March 29, 2017

ताज़ा खबर

 

आरोपों का खेल करें बंद : सुप्रीम कोर्ट

दिल्ली की जनता की देखभाल करना आपकी जिम्मेदारी है। आप महान हो सकते हैं लेकिन यह ओहदा कायम रखने के लिए आपको कुछ करना होगा।

Author नई दिल्ली | October 5, 2016 05:26 am
दिल्ली के उपराज्यपाल नजीब जंग (बाएं) और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल।

सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को दिल्ली सरकार को आरोप-प्रत्यारोप का कोई खेल नहीं खेलने की हिदायत देते हुए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन को बुधवार तक उपराज्यपाल नजीब जंग के साथ बैठक करके राष्ट्रीय राजधानी में डेंगू और चिकनगुनिया जैसी बीमारियों पर नियंत्रण करने की रणनीति बनाने को कहा। न्यायमूर्ति एमबी लोकुर और न्यायमूर्ति एल नागेश्वर राव के पीठ ने कहा, ‘आरोप प्रत्यारोप का खेल खेलने का कोई सवाल नहीं है। दिल्ली की जनता की देखभाल करना आपकी जिम्मेदारी है। आप महान हो सकते हैं लेकिन यह ओहदा कायम रखने के लिए आपको कुछ करना होगा। गड़े मुर्दे उखाड़ने से कुछ नहीं होने वाला। आपको भविष्य की ओर देखना होगा’।

अदालत ने उपराज्यपाल और केजरीवाल नीत सरकार के बीच शक्तियों को लेकर आरोप-प्रत्यारोप में जाने से इनकार किया और कहा कि जिनके नाम लिए गए हैं, उनके अलावा अन्य कोई जंग के साथ बैठक नहीं करे। अदालत ने केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव पीके मिश्रा, मुख्य सचिव केके शर्मा, दक्षिण दिल्ली नगर निगम, पूर्वी दिल्ली नगर निगम, उत्तरी दिल्ली नगर निगम, नई दिल्ली नगर पालिका परिषद के आयुक्तों, दिल्ली छावनी बोर्ड के सीईओ से उपराज्यपाल के साथ बैठक में शामिल होने को कहा। नगर निकायों के अधिकारियों और पदाधिकारियों के अलावा अदालत ने न्यायमित्र कोलिन गोंसाल्वेज, दिल्ली मेट्रो रेल कारपोरेशन के चेयरमैन, उत्तर रेलवे के महाप्रबंधक और दिल्ली विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष से इस बैठक में शामिल होने को कहा। पीठ ने सरकार और स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन की ओर से पेश वरिष्ठ अधिवक्ता चंदर उदय सिंह के इस आरोप पर नाखुशी जताई कि अधिकारी मंत्री को रिपोर्ट नहीं कर रहे हैं और बैठकों में नहीं आ रहे हैं।

सिंह ने कहा, ‘दिल्ली में दो सरकारें नहीं हो सकतीं। अधिकारी हमें रिपोर्ट नहीं कर रहे, वे बैठक में नहीं आ रहे। हमें पता होना चाहिए कि हम किसके साथ बैठकर बात करें’। इस पर नाराज पीठ ने कहा, ‘बात मत टालिए। क्या हम आपको बताएं कि आपको किसके साथ बैठकर बात करनी चाहिए। निर्वाचित सरकार कौन है? दो निर्वाचित सरकारें नहीं हो सकतीं। लोगों का ख्याल रखना निर्वाचित सरकार की जिम्मेदारी होती है’।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 5, 2016 5:12 am

  1. No Comments.

सबसे ज्‍यादा पढ़ी गईंं खबरें

सबरंग