ताज़ा खबर
 

दिल्ली: होटल के एक कमरे में मिली युवक -युवती की लाश, साथ में की दोनों ने खुदकुशी

दिल्ली के राजौरी गार्डन इलाके के एक होटल से युवक -युवती की लाश बरामद हुई है।
Author नई दिल्ली | October 22, 2017 02:06 am
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

दिल्ली के राजौरी गार्डन इलाके के एक होटल से युवक -युवती की लाश बरामद हुई है। पुलिस के मुताबिक मामला खुदकुशी का है। शाम साढ़े पांच बजे पीसीआर पर इसकी सूचना मिली। पुलिस टीम होटल अमन डीलक्स पहुंची। दो शव बरामद हुए। युवक की पहचान केरल निवासी सुरेश के रूप में हुई है। जबकि युवती का खुलासा पुलिस ने नहीं किया। दोनों की उम्र करीब 28 से 30 साल के बीच है।  दूसरी ओर अर्जनगढ़ मेट्रो स्टेशन के पास एक कार चालक की उसके कार में शव मिलने से सनसनी फैल गई। जानकारी के मुताबिक कार ओला बेड़े में चल रही थी। यहां देर शाम लावारिस खड़ी कार को देखकर पुलिस को सूचना दी गई। पुलिस ने चालक का शव बरामद किया है। पुलिस का कहना है कि पोस्टमार्टम रपट से ही मामला साफ हो सकेगा। एक दूसरी घटना में यहां के राजौरी गार्डन इलाके में एक होटल से दो शव मिला।
फरार चालक दबोचा गया, 24 लाख बरामद

कनॉट प्लेस थाना पुलिस ने मालिक के 25 लाख रुपए लेकर फरार हुए चालक को सागर (मध्यप्रदेश) से गिरफ्तार कर लिया। उसके कब्जे से साढ़े 24 लाख रुपए व कार की चाबी बरामद कर ली है। आरोपी दस वर्ष से पीड़ित मालिक के यहां ड्राइवर की नौकरी कर रहा था। उसका पुलिस वेरीफिकेशन नहीं कराया गया था। आरोपी मूल रूप से मध्यप्रदेश का रहने वाला है और यहां पश्चिम विहार में रहता था। नई दिल्ली जिला के पुलिस उपायुक्त बीके सिंह के मुताबिक पिंक अपार्टमेंट, पश्चिम विहार निवासी अजीत जालान ने दिवाली वाले दिन पुलिस को सूचना दी कि वह दिवाली मिलन समारोह में शामिल होने के लिए मैसोनिक क्लब (जनपथ) आया था। उन्होंने गाड़ी को पार्किंग में लगाने के चालक को निर्देश दिए। कार में पैसे थे। जब वे लौटे तो कार तो थी लेकिन चालक पैसे लेकर फरार था। बाद में दूसरी चाबी से कार को खोला गया। पुलिस को सूचना दी।
सौ रुपए के नकली नोट रखने के मामले में व्यक्ति दोषी करार
दिल्ली की एक अदालत ने एक व्यक्ति को शराब खरीदने के लिए 100 रुपए के नकली नोट का इस्तेमाल करने और 100 रुपए के 56 से ज्यादा नकली नोट रखने का दोषी करार दिया है। हरियाणा के इस शख्स को अदालत ने भारतीय दंड संहिता के तहत नकली नोट रखने और इस्तेमाल करने का दोषी पाया और उसकी इस दलील को खारिज कर दिया कि उसे इस मामले में फंसाया गया है।
अतिरिक्त जिला न्यायाधीश एके कुहर ने कहा कि इसके पीछे पुलिस कांस्टेबल का कोई मकसद साबित नहीं होता कि आरोपी को अपराध में फंसाने के लिए गलत तरीके से उसके पास से नकली नोट बरामद किए जाने की बात की गई।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.