ताज़ा खबर
 

साम्प्रदायिक ताकतें हिन्दुस्तान को नहीं बना सकती अपना बंधक- राष्ट्रपति चुनाव के बहाने सोनिया गांधी का नरेन्द्र मोदी पर हमला

पार्लियामेंट एनेक्सी में विपक्षी दलों की बैठक में सोनिया गांधी ने कहा कि राष्ट्रपति-उपराष्ट्रपति चुनाव में हमारे पास भले ही संख्या ना हो लेकिन राजनीतिक जंग निश्चित रुप से लड़ा जाना चाहिए और जोरदार तरीके से लड़ा जाना चाहिए।
कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर जोरदार हमला बोला है। सोनिया गांधी ने विपक्षी दलों की बैठक में कहा कि राष्ट्रपति चुनाव संकीर्ण मानसिकता वाली साम्प्रदायिक ताकतों के खिलाफ एक जंग है। पार्लियामेंट एनेक्सी में विपक्षी दलों की बैठक में सोनिया गांधी ने कहा कि राष्ट्रपति-उपराष्ट्रपति चुनाव में हमारे पास भले ही संख्या ना हो लेकिन राजनीतिक जंग निश्चित रुप से लड़ा जाना चाहिए और जोरदार तरीके से लड़ा जाना चाहिए। सोनिया गांधी ने विपक्षी दलों की बैठक में पीएम मोदी और बीजेपी पर भी जोरदार वार किया। सोनिया ने कहा कि हम भारत को उन ताकतों का बंधक बनने नहीं दे सकते और नहीं बनने देंगे जो अपनी संकुचित, विभाजनकारी और साम्प्रदायिक विचारधारा देश पर थोपना चाहते हैं।सोनिया गांधी ने कहा कि राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति देश के संवैधानिक प्रमुख होते हैं, उन्हें अपना दायित्व इस तरह निभाना पड़ता है कि देश के संविधान और कानून का संवर्धन, पोषण और रक्षण हो सके। सोनिया गांधी ने देश की वर्तमान सरकार पर हमला बोला और आगे कहा, ‘ लेकिन दुख की बात ये है कि इन दोनों पदों पर संकट मंडरा रहा है।

सोमवार 17 जुलाई को होने वाले राष्ट्रपति चुनाव से पहले विपक्षी दलों का हौसला बढ़ाते हुए सोनिया गांधी ने विपक्षी दलों के राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति उम्मीदवार की शख्सियत का हवाला दिया और कहा कि मीरा जी और गोपाल कृष्ण जी के रुप में हमलोगों को सर्वोत्तम राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति मिलेगा जो देश को मौजूदा खतरे से बाहर निकाल कर ले जाएगा। सोनिया ने कहा कि इन चुनावों में आंकड़े भले ही हमारे पक्ष में ना हों, लेकिन लड़ाई होगी और जबर्दस्त होगी। बता दें कि उपराष्ट्रपति पद के लिए विपक्षी दलों के उम्मीदवार गोपाल कृष्ण गांधी 18 जुलाई को नामांकन दाखिल करेंगे। जबकि बीजेपी ने उपराष्ट्रपति पद के लिए अपने कैंडिडेट के नाम का ऐलान नहीं किया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on July 16, 2017 6:49 pm

  1. D
    Dev Verma
    Jul 16, 2017 at 10:00 pm
    बंधक था हिंदुस्तान किसी एक रांड पार्टी का बूत अपनी आँख खोले तो पत्ता चलेगाः की हिंदुस्तान अब आज़ाद हुआ है...चोरों की रानी तेरे और तेरे UPA गठबंधन के दिन पूरे हो चुके हैं...तू भी हज की तिआरी कर.
    Reply
  2. A
    AK
    Jul 16, 2017 at 7:26 pm
    चाहे वो भ्रष्टाचार को बढ़ावा देने वाला हो । ये 17 पार्टियां और उनके परिवार के सदस्य ही देश का भला चाहते हैं । सरकार चुनने वाली देश की जनता तो एकदम है ।
    Reply
  3. A
    Arun Kottur
    Jul 16, 2017 at 7:03 pm
    क्या बात है. श्रीमती जी जरुरत है जरुरत है ेएक श्रीमती की कलावती की सेवा करे जो देश की.
    Reply
सबरंग