ताज़ा खबर
 

दिल्ली: तीसरे दिन भी नहीं टूटी कैब चालकों की हड़ताल

हड़ताल के कारण आम आदमी और पर्यटकों को एक जगह से दूसरी जगह जाने में खासी परेशानी झेलनी पड़ी।
Author नई दिल्ल | February 13, 2017 02:52 am
प्रतीकात्मक चित्र

दिल्ली-एनसीआर में ऐप आधारित टैक्सी चालकों की हड़ताल तीसरे दिन रविवार को भी जारी रही। हड़ताल का एलान करने वाले सर्वोदय ड्राइवर एसोसिएशन आॅफ दिल्ली का कहना है कि सोमवार को भी हड़ताल जारी रहेगी। ऐप आधारित टैक्सी के इस संगठन के पदाधिकारियों ने दावा किया कि रविवार को एनसीआर में ओला-उबर समेत अन्य ऐप आधारित कंपनियों की 90 फीसद टैक्सियां नहीं चलीं। हड़ताल के कारण आम आदमी और पर्यटकों को एक जगह से दूसरी जगह जाने में खासी परेशानी झेलनी पड़ी। हड़ताल के कारण ऐप आधारित कंपनियों ने रविवार को कोई बुकिंग नहीं ली। वहीं काली-पीली टैक्सी यूनियनों ने साफ किया कि वे ऐप आधारित टैक्सियों की हड़ताल में शामिल नहीं हैं और सोमवार को उनकी टैक्सियां पूरे दिल्ली-एनसीआर में चलेंगी। दिल्ली के परिवहन मंत्री सत्येंद्र जैन ने रविवार को काली-पीली टैक्सी यूनियनों के साथ एक बैठक की, जिसके बाद सोमवार को काली-पीली टैक्सियों ने दिल्ली में सेवा देने की बात कही। बता दें कि रविवार तक ऐप आधारित टैक्सियों की हड़ताल में काली-पीली टैक्सियों के शामिल होने की भी सूचना थी। इसके बाद आॅटो यूनियनों की ओर से साफ किया गया कि कैब चालकों की हड़ताल में वे शामिल नहीं होंगे। वहीं रविवार को ही दिल्ली सरकार की ओर से ओला-उबर की हड़ताल पर कहा गया कि उनकी मांग से दिल्ली सरकार का कोई लेना-देना नहीं है। कैब चालकों की मांग उनकी कंपनियों से है और यह उनका अंदरूनी मामला है।

कैब चालकों के संगठन सर्वोदय ड्राइवर एसोसिएशन के अध्यक्ष कमलजीत का कहना है कि वे ऐप आधारित कंपनियों के उत्पीड़न के खिलाफ हड़ताल पर हैं। वे किराया दर प्रति किलोमीटर 21 रुपए करने की मांग कर रहे हैं, जबकि कंपनी की तरफ से उनका किराया दर 6 रुपए प्रति किलोमीटर तय है। कमलजीत ने कहा कि देश के हर हिस्से में ओला-उबर अपने ड्राइवरों का ऐसे ही शोषण कर रही हैं। सोमवार की हड़ताल में जयपुर और हैदराबाद से भी कैब चालक शामिल होंगे। रविवार को सत्येंद्र जैन ने टैक्सी यूनियनों से मुलाकात में यह भी कहा कि अगर ऐप आधारित कंपनियां दिल्ली परिवहन विभाग के साथ मिलकर टैक्सी चलाना चाहती हैं तो उनका स्वागत है।

बस और मेट्रो ने दिया सहारा

कैब चालकों की हड़ताल के बीच रविवार को आलम यह था कि कनॉट प्लेस से अंतरराष्टÑीय हवाई अड्डे जाने के लिए आॅटो चालकों ने 500 रुपए तक मांगे। ऐसे ही न्यू अशोक नगर में रणबीर सिंह कैब बुक करने के लिए ऐप पर आधे घंटे तक कोशिश करते रहे, लेकिन उन्हें एक भी कैब नहीं मिली। इस कारण उन्हें परिवार सहित मेट्रो से चावड़ी बाजार जाना पड़ा। यही हाल कनॉट प्लेस पहुंचे गगन का था, जिन्हें मॉडल टाउन से बस से आना पड़ा। हड़ताल से राजीव चौक मेट्रो स्टेशन का हाल भी बुरा था और वहां यात्रियों की भारी भीड़ थी। लोगों को मेट्रो स्टेशन से बाहर निकलने के लिए भी लंबी लाइन लगानी पड़ी।

 

दिल्ली अभी भी सुरक्षित नहीं: जनवरी में 140 रेप केस, तो 200 से ज्यादा छेड़छाड़ के मामले दर्ज

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.