ताज़ा खबर
 

लोगों को कैशलेस लेन-देन की जानकारी देगी भाजपा

दिल्ली भाजपा के सभी सांसद, विधायक और पार्टी के नेता आज राजधानीवासियों को बिना नकदी के लेन-देन की विधियों के बारे में बताएंगे। यह कार्यक्रम सुबह से शाम तक चलेगा, जिसके जरिए लोगों को कैशलेस भुगतान के फायदे भी बताए जाएंगे।
Author नई दिल्ली | December 4, 2016 02:29 am
सरकार ने अर्थव्यवस्था में नकदी को बढ़ावा देने के इरादे से वेतन भुगतान में संशोधन के लिए अध्यादेश को बुधवार को मंजूरी दे दी।

दिल्ली भाजपा के सभी सांसद, विधायक और पार्टी के नेता आज राजधानीवासियों को बिना नकदी के लेन-देन की विधियों के बारे में बताएंगे। यह कार्यक्रम सुबह से शाम तक चलेगा, जिसके जरिए लोगों को कैशलेस भुगतान के फायदे भी बताए जाएंगे। इसकी जानकारी दिल्ली भाजपा के नवनियुक्त अध्यक्ष मनोज तिवारी ने शनिवार को एक प्रेस कांफ्रेंस में दी। दिल्ली भाजपा का अध्यक्ष बनने के बाद तिवारी की यह पहली प्रेस कांफ्रेंस थी। मनोज तिवारी ने कहा कि विमुद्रीकरण का राजनीतिक विरोध केवल बदले की भावना से प्रेरित है जो उन राजनीतिक दलों के मन में देश की राजनीति में हाशिए पर चले जाने के डर से पैदा हुआ है जो मुख्य विपक्षी दल की मान्यता के लिए आपस में ही लड़ते रहते हैं। उन्होंने कहा कि नोटबंदी से देश में कालाधन खत्म हो जाएगा। जो काला धन सामने आएगा, उसे विकास के कार्यों में लगाया जाएगा। उन्होंने कहा कि विरोधी दलों को कालेधन के कारण भारत के गिरते आर्थिक स्वास्थ्य की कोई चिंता नहीं है क्योंकि वे विमुद्रीकरण के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बढ़ते राजनीतिक कद से डरे हुए हैं। तिवारी ने कहा कि अनेक राजनीतिक दल, जिन्होंने कालाधन जमा कर रखा है, इस पर हाय-तौबा मचा रखी है, लेकिन जनसाधारण इस बदलाव के दौरान होने वाली कठिनाइयों का सामना करने के लिए तैयार है क्योंकि वह कैशरहित अर्थव्यवस्था की ओर बढ़ने के लिए तैयार है। उन्होंने राजनीतिक कार्यकर्ताओं और युवाओं को मोबाइल ऐप के जरिए भुगतान करने और इसके बारे में परिवार के बुजुर्गों को भी शिक्षित करने को कहा। उन्होंने कहा कि युवाओं को मेरा मोबाइल, मेरा बैंक, मेरा बटुआ को अपनाने में उनकी सहायता करनी चाहिए। तिवारी ने कहा कि 1951 से 2016 तक भारत में दस बार सरकारों ने वीडीआइएस और बॉन्ड स्कीमों की घोषणा की है जिसका मकसद अंतरराष्टÑीय वित्त विशेषज्ञों और मीडिया के दवाब में कालेधन को खत्म करना था, लेकिन पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकारों ने कभी भी कालेधन के उन्मूलन का प्रयास नहीं किया, इसलिए यूपीए सरकार के 10 साल के कार्यकाल के दौरान देश की जीडीपी लगभग 35 फीसद हो गई थी। प्रधानमंत्री इस संबंध में कड़ाई से कार्रवाई करना चाहते हैं, इसलिए उन्होंने उच्च मूल्य के नोटों का विमुद्रीकरण करके कालेधन की जड़ पर ही प्रहार किया। तिवारी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कालाधन रखने वालों की कमर तोड़ दी है, लेकिन अब हम नागरिकों की जिम्मेदारी है कि हम किसी भी तरह से कालेधन को फिर पनपने से रोकें।

केजरीवाल के घर के बाहर किया प्रदर्शन
विमुद्रीकरण का विरोध कर रहे मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आवास के बाहर शनिवार को प्रदर्शन कर रहे भाजपा कार्यकर्ताओं पर पुुलिस ने पानी की बौछार की, जिसके बाद भाजपा कार्यकर्ता तितर-बितर हो गए। प्रदर्शन में सांसद रमेश बिधूड़ी, दिल्ली भाजपा महामंत्री आशीष सूद, पार्षद नीरज गुप्ता और भाजपा नेता विक्रम बिधूड़ी भी शामिल हुए हैं। कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए रमेश बिधूड़ी ने कहा कि केवल 6 साल के सार्वजनिक जीवन में केजरीवाल नोटबंदी के प्रबल समर्थक से प्रबल विरोधी बन गये हैं, जिसका कारण पिछले तीन साल में उनकी बनाई गई पार्टी की ओर से बड़ी मात्रा में लिया गया नकद चंदा है।

केजरीवाल का नोटबंदी का विरोध निजी नुकासान से प्रेरित दिखाई देता है, वरना यह समझ से परे है कि 2011 में रामलीला मैदान में नोटबंदी के समर्थन में नारे लगाने वाला आज नोटबंदी का विरोध क्यों कर रहा है। उन्होंने कहा कि केजरीवाल की समस्या यह है कि उनकी पार्टी ऐसे सैकड़ों कार्यकर्ताओं की सहायता से चलती है जिन्हें नकद वेतन मिलता है और इस नोटबंदी के कारण उनके पास कोई धन नहीं बचा है। उनकी यह हताशा निर्धनता से उपजी है।
बिधूड़ी ने कहा कि दक्षिणी दिल्ली में विकास कार्य पूरी तरह ठप पड़ा है। बदरपुर व छतरपुर से लेकर बिजवासन तक जनता पीने के पानी के लिए तरस रही है, सड़कों की हालत खस्ता है और सरकारी स्कूलों का स्तर लगातार गिर रहा है, लेकिन केजरीवाल सरकार इस सबसे बेखबर है। उन्होंने कहा कि सबसे बड़ी विडंबना यह है कि बीआरटी कॉरिडोर को तोड़ने और उसके रखरखाव के लिए करोड़ों रुपए का ठेका दिया गया, लेकिन आज एक साल बाद भी वह कॉरिडोर ठीक नहीं हुआ है। दक्षिणी दिल्ली के कालकाजी से लेकर आनंद निकेतन तक दिल्ली की सबसे सुंदर कालोनियों के आसपास की सड़कें खासकर आउटर रिंग रोड रखरखाव के अभाव में बर्बाद हो गई हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.