ताज़ा खबर
 

राजनाथ सिंह ने कहा, नजीब जंग और केजरीवाल संग बैठकर हल करें तकरार

केन्द्र ने आज दिल्ली के उपराज्यपाल नजीब जंग और मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल से कहा कि वे साथ बैठें और कार्यवाहक मुख्य सचिव शकुंतला गैमलिन की नियुक्ति से शुरू हुई तकरार का हल खोजें...
Author May 20, 2015 23:32 pm
बिहार के पांच पुलिसकर्मी एसीबी में शामिल करने के बाद उपराज्यपाल नजीब जंग और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के बीच टकराव के आसार फिर से बढ़ गए हैं।

केन्द्र ने आज दिल्ली के उपराज्यपाल नजीब जंग और मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल से कहा कि वे साथ बैठें और कार्यवाहक मुख्य सचिव शकुंतला गैमलिन की नियुक्ति से शुरू हुई तकरार का हल खोजें।

केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से मुलाकात करने के बाद पत्रकारों से कहा, ‘‘उप राज्यपाल और मुख्यमंत्री को साथ बैठना और हल ढूंढना चाहिए। मुझे भरोसा है कि उप राज्यपाल और मुख्यमंत्री जरूर ही कोई हल ढूंढ लेंगे।’’

बहरहाल, सिंह ने इससे इनकार किया कि राष्ट्रपति से मुलाकात के दौरान उन्होंने नजीब और केजरीवाल के बीच जारी तनातनी पर कोई बात की। गृहमंत्री से जब पूछा गया कि क्या उन्होंने मुलाकात के दौरान राष्ट्रपति को नजीब और केजरीवाल के बीच जारी तनातनी पर कोई जानकारी दी तो उन्होंने कहा, ‘‘मैं यह स्पष्ट करना चाहूंगा कि इस पर कोई चर्चा नहीं हुई है।’’

सिंह ने कहा कि उन्होंने विदेश यात्रा और देहरादून के दौरे से पहले राष्ट्रपति से मुलाकात का वक्त मांगा था। बहरहाल, सूत्रों ने बताया कि माना जाता है कि 15 मिनट की मुलाकात के दौरान गृहमंत्री ने दिल्ली प्रशासन के परिप्रेक्ष्य में केन्द्र सरकार के रुख से मुखर्जी को अवगत कराया है।

माना जाता है कि सिंह ने दिल्ली सरकार के संदर्भ में उप राज्यपाल की जिम्मेदारियों और दायित्वों पर अटार्नी जनरल से गृहमंत्रालय की ओर से ली गई सलाह से राष्ट्रपति को अवगत कराया। दिल्ली सरकार केन्द्रीय गृह मंत्रालय के प्रशासनिक नियंत्रण के अधीन आती है।

अभी तक, केन्द्रीय गृह मंत्रालय कहता आया है कि उप राज्यपाल और मुख्यमंत्री को अपने दायित्वों का निर्वहन नियमावली एवं संविधान के अनुरूप करना चाहिए। कार्यवाहक मुख्य सचिव के रूप में गैमलिन की नियुक्ति से सत्तारूढ़ ‘आप’ और उप राज्यपाल के बीच जंग छिड़ गई। केजरीवाल ने आरोप लगाया कि जंग प्रशासन को अपने नियंत्रण में लेना चाहते हैं।

केजरीवाल के तीखे विरोध के बावजूद जंग ने शुक्रवार को गैमलिन को नियुक्त कर दिया। शनिवार को मुख्यमंत्री ने गैमलिन से कहा था कि वह पदभार ग्रहण नहीं करें लेकिन उन्होंने केजरीवाल के निर्देश को नजरअंदाज कर दिया और जंग के आदेश का पालन किया।

कल, जंग और केजरीवाल दोनों ने राष्ट्रपति से मुलाकात की और उन्हें अपने-अपने रुखों से अवगत कराया। राष्ट्रपति से मुलाकत के बाद जंग ने केन्द्रीय गृहमंत्री से भी मुलाकात की थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. Santosh Makharia
    May 21, 2015 at 5:12 pm
    फिर तो भारत और पाक को आपस में मिलकर एक साल में अपनी तकरार दूर कर लेनी चाहिए थी .........सर जी क्या ख्याल है ????????
    (0)(0)
    Reply
    1. R
      rajeev
      May 20, 2015 at 10:16 pm
      , खानदान, लड़की भी अ है साले की
      (0)(0)
      Reply