ताज़ा खबर
 

केजरीवाल ने केंद्र को दी चेतावनी: युवकों और शिक्षा के साथ ना करें खिलवाड़

आप सरकार के कदमों को गिनाते हुए यहां एक सीधी परिचर्चा के दौरान केजरीवाल ने फेल नहीं करने की नीति’ को रद्द करने की मांग की।
Author नई दिल्ली | July 17, 2016 20:01 pm
दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल। (FILE PHOTO)

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को केंद्र को चेतावनी दी कि युवकों और शिक्षा के साथ खिलवाड़ नहीं किया जाए। साथ ही, उन्होंने केंद्रीय शिक्षा बजट में कटौती किए जाने को लेकर भी प्रहार किया। आप सरकार के कदमों को गिनाते हुए यहां एक सीधी परिचर्चा के दौरान केजरीवाल ने ‘अनुर्तीण :फेल: नहीं करने की नीति’ को रद्द करने की मांग की। इस  नीति के तहत आठवीं कक्षा तक हर छात्र को अगली कक्षा में प्रोन्नत कर दिया जाता है।

उन्होंने कहा, ‘‘लेकिन यह पाया गया कि नौवीं कक्षा में छात्र अवसाद से ग्रसित हो जाते हैं और आत्महत्या तक कर लेते हैं क्योंकि वे लोग पढ़ लिख नहीं सकते। अनुर्तीण नहीं करने की इस नीति को खत्म करना चाहिए क्योंकि यह देश का विनाश कर रहा है। मैं केंद्र से अपील करता हूं कि इस संबंध में हमारे द्वारा पारित किए गए विधेयक को मंजूर किया जाए।’’
अपने दो घंटे लंबे सत्र में पहले 40 मिनट में केजरीवाल ने शिक्षा, स्वास्थ्य, उर्च्च्जा और पानी पर अपनी सरकार के जोर देने का जिक्र किया तथा भूमि एवं फसल नुकसान को लेकर किसानों को मुआवजे के मुद्दे पर भी विस्तार से बोला।

केजरीवाल ने कहा कि इस शहर में बिजली की दरें देश में सबसे कम है और एकमात्र चुनौती वितरण नेटवर्क का अत्यधिक खराब होना है। उन्होंने कहा, ‘‘पिछले 10…15 साल में कोई काम नहीं हुआ। हमने युद्ध स्तर पर काम शुरू किया है और मैंने अपने सभी विधायकों से ट्रांसफार्मर लगाने के लिए जमीन का पता लगाने को कहा है।’’

दिल्ली विश्वविद्यालय में स्थानीय छात्रों के आरक्षण के मुद्दे पर उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि वह मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर से मिलेंगे और उनसे अनुरोध करेंगे कि दिल्ली सरकार से धन पाने वाले 28 कॉलेजों में कट आॅफ अंकों पर पांच फीसदी कृपांक :ग्रेस अंक: दिया जाए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग