ताज़ा खबर
 

Talk To AK में केजरीवाल का केंद्र पर निशाना- उन्‍होंने भारत-पाकिस्‍तान जैसी स्थिति बना दी

दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल 'Talk to AK' कार्यक्रम के जरिए जनता के सवालों के जवाब दे रहे हैं।
Talk To AK कार्यक्रम में अरविंद केजरीवाल के साथ मनीष सिसोदिया भी मौजूद रहे। विशाल डडलानी ने मॉडरेट किया।

दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल ‘Talk to AK’ कार्यक्रम के जरिए जनता के सवालों के जवाब दे रहे हैं। इस दौरान उनसे फोन, एसएमएस और सोशल मीडिया के जरिए सवाल पूछे जा रहे हैं। इस कार्यक्रम में केजरीवाल के साथ डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया भी मौजूद हैं, साथ ही संगीतकार विशाल डडलानी मोडरेटर की भूमिका में हैं। सवालों के जवाब देते हुए केजरीवाल ने अपनी सरकार की उपलब्धियां गिनाई। उन्‍होंने कहा कि जब आप सार्वजनिक जीवन में होते हैं तो आपको जवाब देने के लिए तैयार रहना चाहिए। केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली के सरकारी स्कूलों की हालत खस्ता थी जिसे हमने चुनौती की तरह स्वीकारा। शिक्षा का बजट 10 हज़ार करोड़ रुपए किया और मूलभूत सुविधाओं को दुरुस्त किया। केंद्र सरकार ने शिक्षा बजट 25 प्रतिशत कम कर दिया।

कार्यक्रम की शुरूआत में अरविंद केजरीवाल ने कहा, ”मैं मीडिया को इंटरव्यू देता रहा हूं लेकिन मुझे लगा कि जनता के सवाल मीडिया से अलग होते हैं।” केजरीवाल ने राज्‍य सरकारों को सलाह देते हुए कहा, ”मैं कहना चाहता हूं कि देश के युवाओं से पंगा मत लो। यदि बच्‍चे डिग्रिया खरीदने लगे तो सोचिए देश का भविष्‍य क्‍या होगा।” दिल्‍ली के सीएम ने कहा कि आप सरकार के लिए चार मुद्दे शिक्षा, स्‍वास्‍थ्‍य, पानी और बिजली सबसे महत्‍वपूर्ण है। हमारी सरकार कई कामों से पैसा बचा रही है। 100 रुपये का काम 60-70 रुपये में पूरा किया जा रहा है।

केजरीवाल ने दिल्‍ली सरकार के अधिकारियों का ट्रांसफर करने पर केंद्र सरकार पर निशाना साधा। उन्‍होंने कहा, ”हमारे 11 काबिल अफसरों को ट्रांसफर कर दिया गया। कई पद खाली पड़े हैं। हम विज्ञापन देंगे और अच्‍छे अफसरों को ढूंढ़ेंगे। हम नीति बनाने से पहले जनता की राय लेते हैं। केंद्र सरकार दिल्‍ली सरकार को लकवाग्रस्‍त करना चाहती है।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.