December 08, 2016

ताज़ा खबर

 

केजरीवाल बोले- नरेन्द्र मोदी के ‘अहंकार-हठ’ ने देश को 10 साल पीछे धकेला, नोटबंदी को बताया ‘फ्लॉप’

भाजपा ने नोटबंदी के कदम से पहले बिहार और अन्य राज्यों में जमीन खरीद कर अपने कालेधन को ठिकाना लगा दिया।

Author नई दिल्ली | November 29, 2016 00:31 am
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल। (File Photo)

नोटबंदी को ‘फ्लॉप’ करार देते हुए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आज आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के ‘अहंकार और हठ’ ने देश को 10 साल पीछे धकेल दिया है। उन्होंने कहा कि यह कदम कालाधन, भ्रष्टाचार, जाली नोटों के प्रसार और आतंकवाद को वित्त पोषण पर रोक लगाने में नाकाम रहा है। केजरीवाल ने आरोप लगाया कि अधिक रकम के नोट पर पाबंदी लगने के बाद से काला धन और भ्रष्टाचार 10 गुना तक बढ़ गया है। उन्होंने इस संकट के लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी और फर्जीवाड़ा के मामले दर्ज करने की मांग की। दिल्ली के मुख्यमंत्री ने यह आरोप भी लगाया कि भाजपा ने नोटबंदी के कदम से पहले बिहार और अन्य राज्यों में जमीन खरीद कर अपने कालेधन को ठिकाना लगा दिया। उन्होंने संवाददाताओं को संबोधित करते हुए कहा कि नोटबंदी को लागू किए आज (सोमवार, 28 नवंबर) 20 दिन हो गए। यह कालाधन, आतंकवाद को वित्त पोषण, जाली नोट और भ्रष्टाचार पर रोक लगाने में पूरी तरह नाकाम रहा है। नोटबंदी फ्लॉप रहा है।

मुख्यमंत्री ने आरोप लगाया कि आरबीआई के नये नोट लाने की तुलना में कहीं अधिक तेजी से जाली नोटों का प्रसार हो रहा है जिससे यह संदेह हो रहा है कि क्या यह काला धन को सफेद करने का तरीका है। उन्होंने कहा कि नोटबंदी की घोषणा के बाद से लोगों ने अपने बैंक खातों में आठ लाख करोड़ रूपये जमा किए हैं। उन्होंने ‘हमारी जानकारी के मुताबिक उनमें अभी तक कोई कालाधन नहीं जमा हुआ है, प्रधानमंत्री के अहंकार और हठ ने देश को 10 साल पीछे धकेल दिया।’ उन्होंने कहा कि अक्तूबर की तुलना में भ्रष्टाचार का स्तर और कालाधन बनने में 10 गुना तक वृद्धि हुई है। अमेरिकी डॉलर कानूनी तौर पर 70 रुपये में उपलब्ध है लेकिन काला बाजार में यह 116 रुपये में खरीदा जा रहा है। उन्होंने आरोप लगाया कि सोना प्रति 10 ग्राम 30,000 रुपये में खरीदा जा रहा है लेकिन गलत माध्यम से यह 56,000 रुपये में खरीदा जा रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्र ने सावधि जमा की ब्याज दर में काफी कटौती की है, जो बुजुर्ग लोगों की परेशानी बढ़ाएगा। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री शायद इसलिए संसद में जाने से बच रहे हैं कि उन्हें अपने खिलाफ लगे कुछ आरोपों का सामना करने का भय है।

लोकसभा में पेश किया गया इनकम टैक्स संशोधन बिल; खुद बताया तो 50% वरना 85% टैक्स लेगी सरकार

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 29, 2016 12:31 am

सबरंग