ताज़ा खबर
 

दिल्ली: LG अनिल बैजल ने ACB को सौंपी अरविंद केजरीवाल पर दो करोड़ लेने के आरोप की जांच, कहा- 7 दिन में देें रिपोर्ट

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कपिल मिश्रा को मंत्री पद से हटा दिया है।
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (फोटो: PTI)

दिल्ली के लेफ्टिनेंट गवर्नर अनिल बैजल ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर लगे दो करोड़ रुपये “अवैध नकद” लेने के आरोप की जांच एंटी-करप्शन ब्यूरो को सौंप दी है। राज्यपाल बैजल ने एसीबी से सात दिनों के अंदर जांच की रिपोर्ट देने के लिए कहा है। आम आदमी पार्टी के विधायक और पूर्व मंत्री कपिल मिश्रा ने रविवार को एक प्रेस कांफ्रेंस में आरोप लगाया था कि उनके सामने दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने अरविंद केजरीवाल को दो करोड़ रुपये नकद दिए थे। अरविंद केजरीवाल और आम आदमी पार्टी ने इस आरोप को बेबुनियाद बताया है। सोमवार (आठ मई) को मिश्रा अपना बयान दर्ज कराने के लिए एसीबी के दफ्तर पहुंचे हैं। दिल्ली के उप-मुख्यमंत्री और आप नेता मनीष सिसोदिया ने मिश्रा द्वारा लगाए आरोपों को “चुटकुला” बताते हुए उनसे इसका सबूत मांगा है।

सोमवार को एसीबी दफ्तर पहुंचे कपिल मिश्रा ने मामले की सीबीआई जांच की मांग की है। न्यूज 18 की रिपोर्ट के अनुसार मिश्रा ने कहा है कि उनकी, सीएम केजरीवाल और सत्येंद्र जैन का तत्काल लाई-डिटेक्टर टेस्ट किया जाना चाहिए। कपिल मिश्रा ने पानी के टैंकर घोटाले में भी आम आदमी पार्टी नेताओं के शामिल होने का आरोप भी लगाया है। कपिल मिश्रा को शनिवार (छह मई) को अरविंद केजरीवाल मंत्रिमंडल से निकाल दिया गया था। शनिवार को ही मिश्रा ने कहा था कि वो रविवार को एक प्रेस वार्ता में एक बड़ा खुलासा करेंगे। शनिवार (सात मई) को प्रेस वार्ता में मिश्रा ने दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल पर आरोप लगाया कि उनके सामने ही दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने केजरीवाल को दो करोड़ रुपये नकद दिए थे।

मिश्रा के आरोप लगाने के बाद ही आम आदमी पार्टी नेताओं ने इन आरोपों को बेबुनियाद बताया। हाल ही में केजरीवाल पर चापलूसों से घिरे रहने का आरोप लगाने वाले आप नेता कुमार विश्वास ने भी केजरीवाल पर लगाए गए आरोप को निराधान बताया। वहीं पार्टी छोड़ चुके योगेंद्र यादव ने भी ट्वीट करके कहा कि केजरीवाल घमंडी और चापलूसी पंसद हो सकते हैं लेकिन वो घूस नहीं लेंगे।

वहीं दिल्ली भाजपा के अध्यक्ष मनोज तिवार ने मांग की है कि मामले की निष्पक्ष जांच के लिए सीएम केजरीवाल को मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे देना चाहिए। कांग्रेस नेता अमरिंदर सिंह ने कहा है की इस मामले से केजरीवाल का सच सामने आ गया है। मिश्रा ने रविवार को दिल्ली के लेफ्टिनेंट गवर्नर अनिल बैजल से मुलाकात करके मामले की शिकायत दर्ज करायी थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.