ताज़ा खबर
 

AAP: पानी होगा आपका अधिकार

दिल्ली में अगर आम आदमी पार्टी (आप) की सरकार बनी तो पार्टी लोगों को पानी एक अधिकार के तौर पर मुहैया कराएगी। आप नेता आशीष खेतान ने मंगलवार को एक संवाददाता सम्मेलन में यह वादा किया। उन्होंने पानी पर श्वेतपत्र जारी करते हुए दावा किया कि पानी पर सबका अधिकार है। लेकिन शहर में पानी […]
Author January 28, 2015 10:13 am
दिल्ली में अगर आम आदमी पार्टी (आप) की सरकार बनी तो पार्टी लोगों को पानी एक अधिकार के तौर पर मुहैया कराएगी।

दिल्ली में अगर आम आदमी पार्टी (आप) की सरकार बनी तो पार्टी लोगों को पानी एक अधिकार के तौर पर मुहैया कराएगी। आप नेता आशीष खेतान ने मंगलवार को एक संवाददाता सम्मेलन में यह वादा किया। उन्होंने पानी पर श्वेतपत्र जारी करते हुए दावा किया कि पानी पर सबका अधिकार है। लेकिन शहर में पानी की स्थिति में कोई सुधार नहीं हुआ है। जबकि बीते सालों में करीब 32 हजार करोड़ रुपए खर्च किए गए हैं।

आप नेता आशीष खेतान ने कहा कि अगर दिल्ली में हो रहे चुनाव में आप ने जीत हासिल की तो जल बोर्ड के कानून में बदलाव कर साफ पेयजल बाकायदा लोगों का अधिकार बनाया जाएगा। उन्होंने बताया कि दिल्ली सरकार की ओर से पिछले 10 साल में पानी और सीवर पर करीब 32 हजार करोड़ रुपए खर्च हुए हैं। लेकिन बहुत सुधार नहीं हुआ है। अभी भी दिल्ली में बड़ी आबादी को साफ पीने का पानी नहीं मिल पा रहा है। उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी जल बोर्ड के निजीकरण का विरोध करते हुए हर एक घर को किफायती कीमत पर स्वच्छ जल मुहैया कराने की अपनी प्रतिबद्धता दोहराती है। उन्होंने कहा कि आप की सरकार बनने पर पानी की कीमतों में सालाना 10 फीसद की अनिवार्य बढ़ोतरी खत्म कर दी जाएगी।

श्वेत पत्र में कहा गया है कि दिल्ली अपनी पानी की जरूरतों को पूरा करने के लिए काफी हद तक बाहरी संसाधनों (गंगा बेसिन, यमुना उप बेसिन, सिंधु बेसिन) पर निर्भर है। इन संसाधनों का तेजी से दोहन होने की वजह से इनकी क्षमता में तेजी से गिरावट आ रही है। इसके अलावा दिल्ली की 1.8 करोड़ लोगों की आबादी के लिए एक कुशल और नियमित रूप से प्रभावी मलजल उपचार की जरूरत है। फिलहाल दिल्ली में 33.41 लाख घरों में से सिर्फ 20 लाख घरों में पीने के पानी का पाइप कनेक्शन उपलब्ध है। दिल्ली में भूजल के स्तर में तेजी से गिरावट आ रही है। कई इलाकों में भूजल का स्तर सामान्य स्तर से 30 से 70 मीटर तक नीचे चला गया है। भूमिगत जल भंडारों की गुणवत्ता भी खराब हुई है। दूषित पानी मानव शरीर के लिए हानिकारक साबित हो रहा है।

आप ने श्वेत पत्र में कहा है कि स्वच्छ हवा की तरह साफ पानी भी मानव शरीर के लिए जरूरी है। भोजन के अधिकार में पानी के अधिकार को भी शामिल किया जाना चाहिए। पानी की कमी की समस्या से निपटने के लिए पार्टी ने एक ब्लूप्रिंट तैयार किया है। इसके आधार पर दिल्ली के नागरिकों को नियमित रूप से स्वच्छ पानी की आपूर्ति हो सकती है। इसके तहत आप ने दिल्ली के सभी घरों को पानी कनेक्शन और सीवेज नेटवर्क से जोड़ने की बात कही है।

नए पाइपलाइन बिछाने, नए बूस्टर, पंपिग स्टेशन और जल शोधन संयंत्र लगाने की बात कही गई है। इसके अलावा दिल्ली में सक्रिय टैंकर माफिया से निपटने के लिए सख्त कदम उठाने की बात की गई है। आप ने कहा है कि सरकार बनने पर हरियाणा सरकार के साथ मुनक नहर से अतिरिक्त कच्चे पानी के लिए ठोस पहल की जाएगी। पीने योग्य पानी की मांग को कम करने के लिए आप इसके संरक्षण को भी प्रोत्साहन देगी।

आप नेता ने कहा कि यमुना नदी को फिर से जीवित किया जाएगा। यमुना नदी में गंदे और प्रदूषित पानी की निकासी पर भी ध्यान दिया जाएगा। पार्टी पानी की बरबादी रोकने और पानी चोरी पर रोक लगाएगी। पानी के बहाव व इसके रिसाव को मापने के लिए महत्वपूर्ण जगहों पर थोक में अधिक से अधिक मीटर लगाए जाएंगे। वर्षा जल के संचयन पर जोर दिया जाएगा।

भूजल का गिरता स्तर सुधारा जाएगा। जल स्वराज को प्रोत्साहन या नागरिकों के जरिए पानी का शासन और प्रबंधन किया जाएगा। इसमें मोहल्ला स्तर पर दिल्ली में पानी के शासन के लिए नागरिक जल परिषद (जल स्वराज समिति) का गठन किया जाएगा। इसमें छात्रों को जोड़ा जाएगा। इससे छात्र जल प्रबंधन के बारे में जान सकेंगे। वे स्कूल में पीने या साफ-सफाई के लिए पानी के प्रबंधन के बारे में खुद बचत कर सकेंगे।

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.