ताज़ा खबर
 

दिल्ली: 15 साल पुराने डीजल वाहन हटेंगे

उपराज्यपाल नजीब जंग ने दिल्ली में वायु प्रदूषण की गंभीर हालत पर चर्चा के लिए एक उच्च स्तरीय बैठक की।
Author नई दिल्ली | November 8, 2016 03:28 am
दिल्ली में लगातार प्रदूषण बढ़ रहा है।

उपराज्यपाल नजीब जंग ने दिल्ली में वायु प्रदूषण की गंभीर हालत पर चर्चा के लिए एक उच्च स्तरीय बैठक की। उन्होंन एजंसियों को निर्देश दिया है कि वायु प्रदूषण कम के लिए आवश्यक कदम जल्द उठाए जाएं। दिल्ली पुलिस एवं नगर निगम एक्शन प्लान सख्ती से लागू किए जाएं। 15 साल पुराने डीजल वाहनों का पंजीकरण समाप्त करने का अभियान सोमवार से शुरू कर दिया गया। दिल्ली नगर निगम को भलस्वा में आग पर काबू के लिए सभी उपाय करने को कहा गया है। सोमवार से 14 नवंबर तक सभी निर्माण/तोड़फोड़ की गतिविधियों पर प्रतिबंध लगा दिया गया है।

ओवरलोड ट्रकों एवं अन्य राज्यों की ओर जाने वाले ट्रकों को दिल्ली में घुसने की अनुमति नहीं होगी। प्रदूषण फैलाने वाले उद्योगों को बंद किया जाएगा। धार्मिक कार्यों के अतिरिक्त अन्य कारणों से पटाखे फोड़ने को प्रतिबंधित कर दिया गया है। उपराज्यपाल 15 नवंबर को 3 बजे स्थिति की दोबारा समीक्षा करेंगे। इस बैठक में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया, लोक निर्माण विभाग के मंत्री सत्येंद्र जैन, पर्यावरण व वन मंत्री इमरान हुसैन, केंद्रीय पर्यावरण व वन मंत्रालय के संयुक्त सचिव, दिल्ली के मुख्य सचिव, प्रधान सचिव (गृह व वित्त), पुलिस आयुक्त, दिल्ली, उपायुक्त (डीडीए) प्रबंध निदेशक, दिल्ली मेट्रो, सदस्य सचिव (केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड) एवं सदस्य सचिव (दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड) आदि आला अफसर मौजूद थे।

दिल्ली प्रदूषण: NGT ने दिल्ली सरकार को लगाई फटकार; 4 राज्यों के पर्यावरण सचिवों को किया तलब

इसके अतिरिक्त पर्यावरण विषेशज्ञ जैसे विज्ञान व पर्यावरण केंद्र से सुनीता नारायण एवं अनुमिता रॉय और आइआइटी, दिल्ली से प्रोफेसर मंजू मोहन भी बैठक में उपस्थित थे। उपराज्यपाल ने दिल्ली में वायु प्रदूषण को नियंत्रित करने के विशेष उपायों एवं तत्काल कदम उठाने की जरूरत पर बल दिया। जो प्रचलित मौसम की स्थिति, पटाखों के प्रयोग तथा कृषि फसल आदि जलाने से उत्पन्न हुई है। उन्होंने सभी संबंधित पक्षों को युद्धस्तर पर एक साथ आने के लिए तथा विभिन्न एजंसियों को निर्णय का उत्तरदायित्व और उनके सख्त पालन का आदेश दिया है।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.