ताज़ा खबर
 

अरुणाचल हाइड्रो प्रॉजेक्ट पर पूर्व CVO की रिपोर्ट: ऊर्जा मंत्रालय के अफसरों को दिए iPad, खिलाए गए 10 लाख के ड्राईफ्रूट्स-पिज्जा,आईसक्रीम

अरुणाचल प्रदेश की पनबिजली परियोजना में हुए कथित भ्रष्टाचार की रिपोर्ट के मामले में नई जानकारी सामने आई है।
प्रतीकात्मक का इस्तेमाल प्रतिकात्मक तौर पर। (फाइल फोटो)

अरुणाचल प्रदेश की पनबिजली परियोजना में हुए कथित भ्रष्टाचार की रिपोर्ट के मामले में नई जानकारी सामने आई है। नेपको (नॉर्थ इस्टर्न इलेक्ट्रिक पावर कॉर्पोरेशन) के पूर्व सीवीओ ने अपनी रिपोर्ट में ऊर्जा मंत्रालय के उच्च-पदाधिकारियों को गैरजरूरी सुविधाएं और तोहफे मिलने का दावा किया है। रिपोर्ट के मुताबिक इन सुविधाओं और तोहफों की कीमत लाखों रुपये की है। तोहफों में आईपैड, मोबाइल हैंडसेट से लेकर फाइव स्टार होटेल में दावत, डोमिनोज पिज्जा के साथ-साथ मोबाइल बिल्स भी शामिल हैं। सीवीओ सतीश वर्मा ने अपनी रिपोर्ट में ऊर्जा मंत्रालय के अधिकारियों को 20 लाख रुपये के हॉस्पिटैलिटी बिल्स की सुविधाएं मिलने का दावा किया है जिसमें फाइव स्टार होटेल्स में दावत से लेकर केएफसी, बास्किन रॉबिन्स और डोमिनोज से पिज्जा की होल डिलिवरी होने तक की जानकारी दी गई है।

हल्दी और अदरक की खरीद तक के बिल्स होने का दावा भी रिपोर्ट में किया गया है। रिपोर्ट में ऊर्जा मंत्रालय के अधिकारियों पर खर्च का ब्यौरा मई 2014 से मार्च 2016 के बीच का है। रिपोर्ट के बारे में जब ऊर्जा मंत्रालय से जवाब मांगा गया तो उन्होंने कहा कि अभी मामले की जांच जारी है। वर्मा की रिपोर्ट के मुताबिक आईपैड की कीमत 59 हजार रुपये थी जो उस समय नेपको के सीएमडी पी सी पंकज को दिया गया था। साथ ही रिपोर्ट में टीकवुड कैबिनेट की खरीद पर 46 हजार रुपये, 20 लाख के 87 हॉस्पिटैलिटी बिल्स, 10 हजार रुपये के मोबाईल बिल्स, एक्सेसरीज और 10 लाख रुपये ड्राई फ्रूट्स और 5 लाख रुपये गाड़ियों के किराए पर खर्च करने का दावा किया है। इन सभी खर्चों को वर्मा ने अपनी रिपोर्ट में गैर जरूरी बताया है। एक्सग्रुप ने इस मामले पर सचिव (ऊर्जा) पी. के. पुजारी और तब जॉइन्ट सचिव (हाइड्रो)
अनिरुद्ध कुमार से बातचीत करने की कोशिश की लेकिन कोई जवाब नहीं मिला।

वहीं आईपैड मिलने की बात पर पी. सी. पंकज ने कहा, “हो सकता है कि आई पैड मुझे जारी किया गया हो लेकिन मैंने उसे अपने पास नहीं रखा है। मैंने आईपैड किसी और को दे दिया था, किसे दिया था यह याद नहीं”। बिल्स की बात का जवाब देते हुए उन्होंने आगे कहा “मेरे पास कई सारे बिल्स साइन होने के लिए आते हैं ऐसे में मुझे सभी की जानकारी याद नहीं।” वहीं फाइव स्टार होटेल्स में दावत की बात पर पंकज ने जवाब दिया कि हमारे पास एंटरटेन्मेंट बजट होता है और काम के हिसाब से जरूरत पड़ने पर उसे खर्च किया जाता है।

गौरतलब है कि 13 दिसंबर को सतीश वर्मा ने अपनी एक और रिपोर्ट में दावा किया था कि किरेन रिजीजू ने अपने एक रिश्तेदार, जो परियोजना में सब-कॉन्ट्रैक्टर भी था, उसके रोके हुए भुगतानों को पूरा करने के लिए नेपको को कहा था। इसी रिपोर्ट में बढ़े हुए बिल्स दिखाकर नेपको से कामेंग हाइड्रो प्रॉजेक्ट के कार्य में भुगतान लेने के 450 करोड़ रुपये के कथित घोटाले का मामला सामने आया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.