ताज़ा खबर
 

राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री मोदी पर लगाया गलतबयानी का आरोप

सेवानिवृत्त सैनिकों के ‘वन रैंक वन पेंशन’ (ओआरओपी) मुद्दे पर आक्रामक तेवर अख्तियार किए राहुल गांधी ने सरकार पर हमला तेज कर दिया। उन्होंने इस मामले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर गलतबयानी करने का आरोप लगाया है।
Author नई दिल्ली | November 5, 2016 00:15 am

सेवानिवृत्त सैनिकों के ‘वन रैंक वन पेंशन’ (ओआरओपी) मुद्दे पर आक्रामक तेवर अख्तियार किए राहुल गांधी ने सरकार पर हमला तेज कर दिया। उन्होंने इस मामले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर गलतबयानी करने का आरोप लगाया है। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के मुख्यालय में सेवानिवृत्त सैनिकों से मुलाकात करने के बाद उन्होंने इस मसले पत्रकारों से बातचीत में दावा किया कि सेवानिवृत्त सैन्य कर्मियों को जो राशि मिल रही है, वह बढ़ी हुई पेंशन है, न कि ओआरओपी स्किम के तहत जारी हो रही पेंशन। कांग्रेस उपाध्यक्ष ने जोर दिया कि ओआरओपी सैन्य कर्मियों का अधिकार है और सरकार को यह देना होगा। उन्होंने कहा, ‘प्रधानमंत्री जो कह रहे हैं वह वन रैंक वन पेंशन वास्तव में बढ़ी हुई पेंशन है। प्रधानमंत्री को इस बारे में गलतबयानी बंद करनी चाहिए।’ राहुल गांधी ने कहा कि वह हिरासत में लिए जाने से परेशान नहीं हैं। पूर्व सैनिक राम किशन ग्रेवाल के आत्महत्या करने के मुद्दे पर हो रहे प्रर्दशनों के दौरान उन्हें दो दिनों में तीन बार हिरासत में लिया गया।

राहुल गांधी ने आरोप लगाया कि सरकार ने 15 बड़े उद्योगपतियों के 1.10 लाख करोड़ रुपए के कर्ज को माफ कर दिया, लेकिन उसके पास सैनिकों और किसानों को देने के लिए कुछ नहीं है। कांग्रेस मुख्यालय में उन्होंने करीब 70 पूर्व सैनिकों से मुलाकात की और कहा कि सरकार ने सैनिकों को वह सम्मान और हक नहीं दिया है, जिसके वे हकदार हैं। अगर ऐसा होता तो पिछले 509 दिनों से ये पूर्व सैनिक क्यों जंतर मंतर पर प्रदर्शन कर रहे हैं।
उधर, कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने पार्टी उपाध्यक्ष राहुल गांधी को हिरासत में लिए जाने पर आज मोदी सरकार पर यह कहते हुए हमला बोला कि कानून के किन प्रावधानों के तहत यह कार्रवाई की गई? उन्होंने ट्वीट कर पूछा, क्या दिल्ली पुलिस हमें बता सकती है कि कानून के किन प्रावधानों के तहत राहुल गांधी को दो दिन में तीन बार हिरासत में लिया गया? क्या दिल्ली पुलिस यह बता सकती है कि वह राहुल गांधी के अवैध हिरासत के खिलाफ एफआईआर दर्ज क्यों नहीं कर रही है? उन्होंने ट्वीट किया, ‘अगर एक राजनेता एक पूर्व सैनिक की याद में एक शांतिपूर्ण कैंडल मार्च में हिस्सा लेना चाहता है। तो क्या यह अपराध है?’

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.