ताज़ा खबर
 

टॉयलेट में यौन उत्पीड़न के बाद जिंदा लाश बना छठी क्लास का छात्र, इंसाफ के ल‍िए लड़ रहे मां-बाप

मुंबई के एक कॉन्वेंट स्कूल में 5 अगस्त को छठी क्लास के एक छात्र का टॉयलेट में सीनियर्स ने यौन उत्पीड़न किया था।
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

पिछले महीने मुंबई के चेंबूर में छठी क्लास के जिस छात्र के साथ सीनियर्स ने यौन उत्पीड़न किया था, अब वह जिंदा लाश जैसा हो गया है। कॉन्वेंट स्कूल में पढ़ने वाले इस छात्र के साथ 5 अगस्त को टॉयलेट में नकाबपोश सीनियर्स ने यौन उत्पीड़न किया था। 11 साल के इस बच्चे का फिलहाल मानसिक इलाज किया जा रहा है। लड़के के माता-पिता ने अज्ञात युवकों के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है। उन्होंने आरोप लगाया है कि आरोपियों ने दोबारा उनके बेटे को डराया-धमकाया है, लेकिन स्कूल प्रशासन आंख मूंदे बैठा है। पीड़ित छात्र हर वक्त डर के साए में जी रहा है और हमेशा नकाबपोश लड़कों को याद कर सहम उठता है। घटना के वक्त आरोपियों ने नकाब पहने हुए थे। पीड़ित छात्र के माता-पिता का कहना है कि वह अब घर के बाहर पांव रखने के लिए भी मना कर रहा है। 11 अगस्त को इस मामले की जानकारी मिली थी। पीड़ित छात्र के माता-पिता ने गोवांडी पुलिस थाने में 7 अगस्त को एफआईआर दर्ज कराई थी। इसके बाद पॉस्को कानून के तहत मामला दर्ज किया गया था।

कोचिंग जाते हुए फाड़े कपड़े: 9 अगस्त को जब दोपहर 2.30 बजे बच्चा कोचिंग क्लास जा रहा था तो नकाबपोश लड़कों ने उस पर दोबारा हमला किया। वह भागकर उसके पास आए, उसे गालियां दीं और उसकी टी-शर्ट भी फाड़ दी। जब छात्र की मां ने कोचिंग में फोन करके पूछा कि वह पहुंचा या नहीं तो टीचर ने बताया कि उसकी टी-शर्ट फटी हुई है और रो रहा है। लड़के की मां ने कहा, मैं नंगे पैर कोचिंग क्लास की ओर भागी और देखा कि मेरा बच्चा चिल्ला रहा है। मैं उसे घर ले गई, लेकिन वह रात भर नहीं सोया। अगले दिन हम उसे मनोचिकित्सक के पास ले गए, जिसने हमें जेजे अस्पताल भेज दिया। उन्होंने हमें बताया कि बच्चा डरा हुआ है, लेकिन अगर एेसा दोबारा हुआ तो वह और डर जाएगा।

स्कूल में फिर हुआ हादसा: कई सेशन्स के बाद बच्चे ने 4 सितंबर से स्कूल जाना शुरू किया। पैरेंट्स ने बच्चे को आश्वासन दिया कि दोनों में से कोई एक पूरे दिन उसके साथ रहेगा। पुलिस ने भी हमें विश्वास दिलाया कि सादे कपड़ों में वह स्कूल के बाहर तैनात रहेंगे। लेकिन 9 सितंबर को जब कोई पीड़ित के साथ नहीं था तो 10.30 बजे लंच के टाइम आरोपी उसके पास आए और कहा, बहुत शाणा बन रहा है क्या? जान से मार दूंगा तुझे। इसके बाद उसने उसे थप्पड़ भी मारा। बच्चे की मां ने आरोप लगाया, मेरे बेटे ने इसकी जानकारी प्रिंसिपल को दी। उन्होंने कहा, वह मामले को देखेंगी। लेकिन उसी दिन 12 बजे जांच अफसर जब प्रिंसिपल से मिले तो उन्होंने इस बारे में कुछ नहीं कहा। जब इस बारे में स्कूल प्रशासन से बात की गई तो उन्होंने कहा, एेसा कुछ नहीं हुआ। अगर आपको जानकारी चाहिए तो गोवांडी पुलिस स्टेशन फोन कीजिए। एक जांच अफसर ने कहा, हमने स्कूल से सीसीटीवी फुटेज मांगी है, लेकिन उन्होंने देने के इनकार कर दिया।

देखें वीडियो ः

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.