ताज़ा खबर
 

माकपा ने केरल में अपने मंत्रियों के लिए बनाए नियम, ‘क्या करें’ ‘क्या न करें’

माकपा ने केरल में अपने मंत्रियों के दिशानिर्देश का एक सेट तैयार किया है और उन्हें निजी कार्यक्रमों से दूर रहने, राजधानी में हफ्ते में पांच दिन मौजूद रहने तथा बिना सोचे समझे घोषणा करने से बचने को कहा गया है।
Author तिरूवनंतपुरम | June 13, 2016 00:10 am
केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन। (पीटीआई फाइल फोटो)

माकपा ने केरल में अपने मंत्रियों के दिशानिर्देश का एक सेट तैयार किया है और उन्हें निजी कार्यक्रमों से दूर रहने, राजधानी में हफ्ते में पांच दिन मौजूद रहने तथा बिना सोचे समझे घोषणा करने से बचने को कहा गया है। बालकृष्णन ने कहा, ‘‘मंत्रियों को निजी व्यक्तियों द्वारा आयोजित कार्यक्रमों में शामिल होने से परहेज करना चाहिए। लेकिन यदि अपरिहार्य हो तो उन्हें पार्टी को सूचित करना चाहिए और जरूरी अनुमति लेनी चाहिए।’’

प्रदेश माकपा समिति की दो दिवसीय बैठक के बाद प्रदेश में पार्टी के सचिव कोडियरी बालकृष्णन ने संवाददाताओं से कहा कि माकपा ने मंत्रियों के लिए दिशानिर्देश का एक सेट तैयार किया गया है। नीतिगत मामलों पर पहले चर्चा की जाए, उसके बाद में मंत्री को कोई घोषणा करनी चाहिए।

उद्योग मंत्री ई पी जयराजन द्वारा दिवंगत महान बॉक्सर मुहम्मद अली को ‘केरलाइट’ बताए जाने से हुई किरकिरी के बाद माकपा ने यह भी फैसला किया है कि बिना तथ्यों को परखे मंत्री यूं ही बयान देने से बचें। उन्होंने कहा कि एकल कार्यक्रम में शिरकत करने की कई मंत्रियों की प्रवृति भी खत्म होनी चाहिए।

समिति ने फैसला किया है कि मंत्रियों को लोगों के आवेदन को ग्रहण करने के लिए हफ्ते में पांच दिन में राजधानी में रहना चाहिए और उन्हें इसका कड़ाई से पालन करना चाहिए। आंगुतक समय में उन्हें अपने कार्यालय में होने चाहिए। पार्टी ने और कई नियम बनाए हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग