ताज़ा खबर
 

UP Elections 2017: मुसलमानों के बीच पैठ बनाने के लिए मायावती ने बनाया मास्‍टर-प्‍लान

मायावती खुद ऐसे कार्यक्रम आयोजित नहीं कराती, लेकिन पार्टी लीडर्स राज्‍य भर में ऐसे फंक्‍शंस कराते रहे हैं।
Author लखनऊ | July 5, 2016 07:23 am
बसपा प्रमुख मायावती। (पीटीआई फाइल फोटो)

बहुजन समाज पार्टी ने अगले साल होने वाले विधानसभा चुनावों के लिए तैयारी शुरू कर दी है। मुस्लिम वोटर्स को लुभाने के लिए बसपा लगभग हर विधानसभा क्षेत्र में इफ्तार आयोजित कर रही है। रमजान की शुरुआत से ही पार्टी के दो प्रमुख मुस्लिम चेहरे, राष्‍ट्रीय महासचिव नसीमुद्दीन सिद्दीकी और राज्‍यसभा सांसद मुनकौद अली इफ्तार कार्यक्रमों में रोज शिरकत कर रहे हैं। सिद्दीकी पश्चिमी उत्‍तर-प्रदेश के ज्‍यादा मुस्लिम बहुल इलाकों के प्रभारी हैं, जबकि अली बनारस, मिर्जापुर और इलाहाबाद मंडल के संयोजक हैं।

मौर्य का मायावती पर आरोप- टिकट बेचकर मिले करोड़ों लेकर विदेश भागना चाहती हैं

बसपा का मुस्लिम चेहरा माने जाने वाले नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने 18 जून को लखनऊ के गोमती नगर एक्‍सटेंशन स्थित CMS ऑडिटोरियम में बड़े पैमाने पर इफ्तार का आयोजन किया जिसमें पार्टी के ज्‍यादातर वरिष्‍ठ नेता- सतीश चंद्र मिश्रा, राम अचल राजभर और शिया धर्मगुरु कल्‍बे जव्‍वाद समेत कई उलेमा शामिल हुए।

मायावती को छोड़कर जाने वाले इन बसपाइयों का तो खत्‍म हो गया करियर, अब स्‍वामी प्रसाद मौर्य का क्‍या होगा

Mayawati, BSP, Babu Singh Kushwaha, RK Chaudhary, Deenanath Chauhan, Ramadhin Ahirwar, Raj Bahadur, Masood Amed बसपा के इतिहास को देखें तो पार्टी छोड़कर जाने वाले नेताओं का राजनीतिक करियर डांवाडोल ही रहा है।

मायावती खुद ऐसे कार्यक्रम आयोजित नहीं कराती, लेकिन पार्टी लीडर्स राज्‍य भर में ऐसे फंक्‍शंस कराते रहे हैं। सिद्दीकी ने पश्चिमी यूपी में हुए ज्‍यादातर इफ्तार कार्यक्रमों में हिस्‍सा लिया है जबकि अली वाराणसी और इलाहाबाद मंडलों के इफ्तार कार्यक्रमों में मौजूद रहे हैं। इन दोनों के अलावा बुंदेलघखंड के संयोजक नौशाद अली और लखनऊ मंडल के संयोजक इंतेजार आबिदी ‘बॉबी’ भी विधानसभा क्षेत्र स्‍तर पर हुए इफ्तार कार्यक्रमों का हिस्‍सा बने हैं।

READ ALSO: Live TV पर अभिजीत ने पत्रकार को दी गाली, कहा- ****, तुम्‍हारे जैसों को लाेग चौराहे पर पीटेंगे

मुनकौद अली ने कहा कि छोटे कस्‍बों में तीन से चार हजार लोग इफ्तार कार्यक्रमों में आते हैं। उन्‍होंने कहा, ”हम कह सकते हैं कि वे इफ्तार या प्‍यार की वजह से कार्यक्रमों में आते हैं। हमें भरोसा है कि वे इसलिए आते हैं क्‍योंकि वे हमें चाहते हैं।” पार्टी के एक अन्‍य मुस्लिम नेता ने कहा कि उन्‍हें उम्‍मीद है विधानसभा चुनावों में 80 फीसदी मुस्लिम वोट बसपा को मिलेंगे। पार्टी ने 80 से ज्‍यादा मुस्लिम उम्‍मीदवारों के नाम तय कर लिए हैं जिनकी घोषणा उनके विधानसभा क्षेत्रों में हुए कार्यक्रमों में की गई है।

मायावती बोलीं- UP जैसा है दिल्‍ली का हाल, केजरीवाल सरकार को नहीं दी जानी चाहिए पुलिस की जिम्‍मेदारी

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग