ताज़ा खबर
 

मोदी के विकास कार्यों के साथ जुड़कर अपने समाज का विकास करें मुसलमान

मौलाना आजाद यूनिवर्सिटी के चांसलर जफर सरेशवाला ने कहा कि वह मोदी से जुड़ने का आह्वान उन्हें वोट देने के लिये नही कर रहे है बल्कि बल्कि मुस्लिम समाज के विकास के लिये कर रहे है ।
Author कानपुर | April 26, 2017 15:23 pm
मौलाना आजाद यूनिवर्सिटी के चांसलर जफर सरेशवाला ने किया मोदी से जुड़ने का आह्वान

देश के विकास के लिये प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नीतियों का समर्थन करने का आहवान करते हुये मौलाना आजाद यूनिवर्सिटी के चांसलर जफर सरेशवाला ने कहा कि वह मोदी से जुड़ने का आह्वान उन्हें वोट देने के लिये नही कर रहे है बल्कि बल्कि मुस्लिम समाज के विकास के लिये कर रहे है । उन्होंने कानपुर के टेनरी मालिकों को आश्वासन दिलाया कि वह उनकी बात प्रधानमंत्री तक पहुंचाने का प्रयास करेंगे लेकिन साथ में यह भी कहा कि कुछ भी हो लेकिन गंगा में प्रदूशण नहीं होना चाहिये । वह अविरल और निर्मल बनी रहनी चाहिए।

कानपुर से टेनरी शिफ्टिंग की खबरों के बीच कल देर रात शहर के चमड़ा व्यापारियों ने प्रधानमंत्री मोदी के नजदीकी सरेशवाला को कानपुर बुलाया था । कल देर रात जाजमउच्च् इलाके में एक संगोष्ठी का आयोजन किया गया जिसका विषय था ‘कानपुर के विकास की ओर एक कदम’ । इस अवसर पर जफर सरेशवाला ने कहा कि देश का मुस्लिम समाज पिछले सत्तर साल से छला जा रहा है, उनके कंधे पर बंदूक रखकर निशाना साधा जा रहा है । अन्य पार्टियां मुसलमानों को भाजपा से दूर रखने के लिये षडयंत्र करती हैं । अन्य पार्टियां हमेशा मुस्लिमों को वोट बैंक ही समझती है ।

उन्होंने कहा कि वह आज प्रधानमंत्री मोदी के साथ इसलिये है क्योंकि वह तरक्की पसंद इंसान हंै और वह समाज के सभी वर्गो का विकास चाहते हैं और विकास के मामले में कोई भेदभाव नही करते है । उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी और कांग्रेस ने पिछले सालों में कोई भी मुस्लिम लीडर उभरने नही दिया बल्कि हर पार्टी ने एक मुस्लिम नेता को इसलिये रख रखा है ताकि वह भाजपा की बुराई कर सकें लेकिन मुस्लिम कौम का भला न करें । उन्होंने कहा कि मुस्लिम समाज को चाहिये कि वह मोदी के विकास कार्यक्रमों के साथ चलें तभी वह अपना और अपने समाज और व्यवसाय का विकास कर सकेंगे ।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on April 26, 2017 3:23 pm

  1. No Comments.
सबरंग