ताज़ा खबर
 

मथुरा में मारे गए एक व्यापारी के आभूषण व नकदी मिली

त्तर प्रदेश के मथुरा जनपद में चार दिन पूर्व हुई सनसनीखेज डकैती एवं दोहरी हत्या के मामले में पता लगा है कि दुकानदार विकास अग्रवाल के यहां दिल्ली में कारोबार करने वाला मथुरा का जो व्यापारी उनकी दुकान पर अपना कुछ माल देने आया था, उसका वह जेवर तथा नकदी कारीगरों ने लूटने से बचा ली थी।
Author मथुरा | May 19, 2017 23:09 pm
सांकेतिक फोटो

उत्तर प्रदेश के मथुरा जनपद में चार दिन पूर्व हुई सनसनीखेज डकैती एवं दोहरी हत्या के मामले में पता लगा है कि दुकानदार विकास अग्रवाल के यहां दिल्ली में कारोबार करने वाला मथुरा का जो व्यापारी उनकी दुकान पर अपना कुछ माल देने आया था, उसका वह जेवर तथा नकदी कारीगरों ने लूटने से बचा ली थी। पुलिस अधिकारियों के अनुसार फुटेज में साफ पता लग रहा था कि घटना से पूर्व दुकानदार भाईयों विकास अग्रवाल व मयंक अग्रवाल के साथ मेरठ के कारीगर अशोक साहू और मोहम्मद अली बैठे नजर आ रहे हैं। तभी दुकान में घुसे मेघ अग्रवाल ने ज्वैलरी और नकदी से भरे काले रंग का एक बैग काउंटर के सामने की दराज के पास रख दिया जबकि अशोक साहू के पास भी लाल रंग का एक थैला था, जिसमें वह गहने लेकर आया था।

गोलियों की बौछार करते हुए दुकान में घुसे बदमाशों ने विकास, मेघ और मयंक को गोली मार दी तो वे तीनों दुकान के गेट पर धराशायी हो गए। उनके बाद बदमाशों ने दो गोली अशोक साहू के भी मारी। लेकिन अशोक साहू ने गिरते-गिरते दोनों बैग पेट के नीचे दबा लिए, जिससे वे बदमाशों की नजर में नहीं आ पाए। दूसरी ओर, पुलिस को जब सीसीटीवी फुटेज से इस माजरे का पता लगा तो सीओ सिटी ने मोहम्मद अली के बेटे और पत्नी के पहुंचने से पूर्व ही व्यापारियों की उपस्थिति में माल कब्जे में ले लिया और बाद में पांच सर्राफों की कमेटी को शर्त के साथ सुपुर्द करा दिया।

एसएसपी विनोद कुमार मिश्रा ने घटना की पुष्टि करते हुए बताया कि पड़ोसी से बरामद हुए सोने से बने बने आभूषणों में 470 ग्राम की 11 चूड़ियां, 600 ग्राम की 53 चेन, 171 ग्राम के चार हार सेट, करीब 55 ग्राम के टॉप्स शामिल हैं। इनके अलावा करीब 3 लाख की नकदी भी थी। यह सब सामान व्यापारी के परिजनों तक पहुंचा दिया गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग