ताज़ा खबर
 

मराठा क्रांति मोर्चा के आंदोलन के आगे झुकी फडणवीस सरकार- शिक्षा में छूट देने का ऐलान, पिछड़ा आयोग को भेजा मामला

Maratha Kranti Morcha Mumbai: ये लोग सरकारी नौकरी और पढ़ाई-लिखाई में मराठा के लिए आरक्षण की मांग कर रहे हैं।
Maratha Kranti Morcha: माना जा रहा है कि लगभग 10 लाख लोग सड़कों पर होंगे।

महाराष्ट्र के विभिन्न हिस्सों से मराठा समुदाय से ताल्लुक रखने वाले हजारों लोगों ने बुधवार को नौकरियों और शिक्षा सहित अन्य विभागों में आरक्षण की मांग लेकर सरकार पर दबाव बनाने के लिए मार्च निकाला। मुंबई की सड़कों पर उतरे मराठाओं की मांगों पर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कुछ बड़े ऐलान किए हैं। हालांकि उन्होंने आरक्षण की मांग को सीधे तौर पर नहीं माना है। सीएम ने कहा कि शिक्षा के मामले में मराठा समुदाय के बच्चों को वे सारी सुविधाएं और छूट दी जाएंगी जो अभी ओबीसी छात्रों को मिल रही है। यही नहीं सरकार ने जमीन और मराठा सुमदाय के बच्चों के लिए हर जिले में छात्रावास बनाने के लिए ग्रांट के रूप में 5 करोड़ रुपए देने का भी ऐलान किया है। नौकरी में आरक्षण की मांग पर विचार करने के लिए यह मामला सरकार ने बैकवर्ड क्लास कमीशन (पिछड़ा वर्ग आयोग) के पास भेजने की बात कही, जो मराठाओं को आरक्षण देने के आधार और संभावनाओं का अध्ययन करेगा। फडणवीस ने कहा कि वह कमीशन से आग्रह करेंगे कि वह तेजी से प्रक्रिया को पूरा करे और बॉम्बे हाई कोर्ट को अपनी रिपोर्ट सौंपे।

कड़ी सुरक्षा व्यवस्था में सुबह बायकुला में जीजामाता उद्यान से मौन मार्च निकाला। मार्च में शामिल होने वाले लोग भगवा झंडे लिये थे। निजी वाहनों के साथ साथ सार्वजनिक वाहनों से लोग सवेरे से ही यहां पहुंचने लगे थे। पुलिस और यातायात कमिर्यों को भारी संख्या में आने वाले लोगों और मुंबई में वाहनों को नियंत्रित करने के लिए तैनात किया गया था। मुंबई के मशहूर ‘डब्बावाले’ लोगों में से अधिकांश लोग मराठा समुदाय से ताल्लुक रखने वाले लोग हैं और उन्होंने भी मार्च में हिस्सा लिया। औरंगाबाद में इस तरह के पहले प्रदर्शन के ठीक एक साल बाद यह मराठा समुदाय का 58 वां मार्च था।

यहां पढ़ें Maratha Kranti Morcha Mumbai की अपडेट:

7:30 PM: महाराष्ट्र के सीएम फडणवीस ने आरक्षण देने के आधार के अध्ययन के लिए बैकवर्ड क्लास कमीशन के पास मामला भेजने की बात कही।

7:15 PM: सभी जिलों में छात्रों के लिए हॉस्टल बनाने के लिए 5 करोड़ के ग्रांट का ऐलान।

7:00 PM: शिक्षा के क्षेत्र में मराठा समुदाय के बच्चों को वो सभी सुविधाएं मिलेंगी जो पिछड़े वर्ग के बच्चों को मिलती है।

5.00 PM: मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने महाराष्ट्र मोर्चा के प्रतिनिधियों और नेताओं से मुलाकात की।

3.10 pm: मराठा मोर्चा डेलिगेशन ने की मुख्यमंत्री देवेंद्र फणनवीस से मुलाकात।

12.40 PM: मराठा नेताओं ने सभी राजनीतिक दलों से रैली से दूर रहने को कहा है। मुंबई बीजेपी के चीफ आशीष शेहलर वहां पहुंचे थे लेकिन उनको वहां से जाने के लिए कह दिया गया।

12.20 PM: मार्च की वजह से कई जगह पर ट्रैफिक जाम लग गया।

12.00 PM: आजाद मैदान पहुंचने के बाद इन लोगों का एक प्रतिनिधि मंडल मुख्यमंत्री देवेंद्र फणनवीस से मिलेगा और अपनी मांग रखेगा।

11.20 AM: कुछ लोग नारेबाजी कर रहे थे। उन लोगों को ऐसा करने से मना किया गया।

11.10 AM: रैली बायकुला से आजाद मैदान तक होगी। रैली में बच्चे और महिलाएं भी हिस्सा ले रही हैं।

11.00 AM: मराठा लोग उस जगह एकत्रित हुए जहां से प्रदर्शन शुरू करना था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग