ताज़ा खबर
 

पाकिस्तान के कब्जे से जवान चंदू बाबूलाल को वापस लाने के लिए सेना का तंत्र सक्रिय

मनोहर पर्रिकर ने रविवार को कहा कि पाकिस्तान के कब्जे से भारतीय जवान चंदू बाबूलाल चव्हाण को छुड़ाने के लिए सरकारी मानक तंत्र के तहत काम किया जा रहा है।
पुणे कैंट एरिया में स्वच्छ भारत अभियान में शिरकत करते हुए रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर (एक्सप्रेस फोटो- संदीप दाउंदकर)

रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने रविवार को कहा कि पाकिस्तान के कब्जे से भारतीय जवान चंदू बाबूलाल चव्हाण को छुड़ाने के लिए सैन्य स्तर पर सरकारी मानक तंत्र के तहत काम किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इसके लिए भारत-पाकिस्तान के डायरेक्टर जनरल ऑफ मिलिट्री ऑपरेशंस (डीजीएमओ) लगातार एक-दूसरे के संपर्क में हैं। पर्रिकर रविवार को पुणे में आयोजित स्वच्छ भारत अभियान के कार्यक्रम के बाद मीडिया से बात कर रहे थे। पत्रकारों ने उनसे पूछा था कि चंदू बाबूलाल को भारत वापस लाने के लिए सरकार क्या कदम उठा रही है। इस पर उन्होंने कहा, “डीजीएमओ लेवेल पर एक मानक तंत्र है जिसके तहत कार्रवाई की जा रही है।” उन्होंने यह भी कहा कि पाकिस्तान के कब्जे में गया जवान सर्जिकल स्ट्राइक अभियान से जुड़ा हुआ नहीं था।

राफेल सौदे से जुड़े एक अन्य सवाल के जवाब में रक्षा मंत्री ने कहा, “डील के मुताबिक राफेल विमानों की डिलीवरी की समय सीमा 36 महीने है लेकिन संभव है कि हमें डिलीवरी पहले ही मिल जाए। हमने उनसे जल्द डिलीवरी करने का अनुरोध किया है।”

गौरतलब है कि 37वीं राष्ट्रीय रायफल के जवान गुरुवार (29 सितंबर) को गलती से लाइन ऑफ कंट्रोल पार कर पाकिस्तान चले गए थे जो फिलहाल पाकिस्तान के कब्जे में हैं। उन्हें छुड़ाने के लिए हरसंभव राजनयिक और कूटनीतिक कोशिशें हो रही हैं। इसबीच उनके पाकिस्तान के कब्जे में होने की खबर सुनते ही उनकी नानी लीलाबाई चिंदा पाटील की गुरुवार रात हार्ट अटैक से मौत हो गई। 23 वर्षीय चंदू बाबूलाल महाराष्ट्र के धुले जिले के वोरबीर गांव के रहनेवाले हैं। उनके पिता का नाम बाशन चौहान है। उनके भाई भी मिलिट्री में ही हैं। उनकी तैनाती फिलहाल गुजरात में है।

Read Also-मनोहर पर्रिकर ने भारतीय सेना को बताया हनुमान जैसा, बोले- सर्जरी हो चुकी मगर अब तक बेहोश है पाकिस्‍तान

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग