ताज़ा खबर
 

वीडियो वायरल: ऐंटी टेररिस्ट सेल के अफसर पर आरोप- महिला को बालों से घसीटा, लात भी मारी

महिला ने बताया, मुझपर हमला किया गया। मेरा फोन भी छीन लिया और एक कौने में धक्का दे दिया। उन्होंने कई बार मुझे थप्पड़ मारे, जिससे मेरे कान से खून तक बहने लगा। बाद में बाल खींचकर मुझे घसीटा गया।
इस तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

महाराष्ट्र के पुणे में एक महिला ने एटीएस अफसर पर मारपीट का आरोप लगाया है। पीड़ित महिला शुक्रवार पेठ इलाके में हाउसिंग सोसायटी की चेयरपर्सन हैं। घटना बीते बुधवार (25 अक्टूबर) की बताई जाती है। आरोप है कि अधिकारी ने कवर्ड पार्किंग हटाने के लिए महिला के साथ मारपीट की। उन्हें थप्पड़ और लात मारीं। यहां तक सीड़ियों से बाल पकड़कर घसीटा गया। पीड़िता की पहचान रुपाली शाह (43) के रूप में की गई है। पूरी घटना कैमरे में कैद हो गई है। वहीं आरोपी की पहचान राजेंद्र  के रूप में की गई है, जो महाराष्ट्र एंटी टेरेरिज्म स्क्वॉड में असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर हैं। रुपाली शाह का कहना है कि सोसायटी और राजेंद्र के बीच पहले विवाद है। जबकि मैं हाउसिंग सोसायटी की कानूनी सलाहकार भी हूं। साल 1981 में सोासयटी को लेकर एक बिल पास हुआ, जिसकी दो शाखाओं में 38 फ्लैट रहेंगे। लेकिन राजेंद्र ने अवैध रूप से यहां निर्माण किया और उसे किराए पर दे दिया। असली विवाद की वजह तो यही है। हालांलिक जब हमने राजेंद्र से उन कागजों को दिखाने के लिए कहा जिसमें निर्माण वैध बताया गया हो। हमने उन्हें लिखित में कई पत्र भेजे। बीते रविवार (22 अक्टूबर) को सोसायटी के सदस्य ने मिलकर एक बिल पास किया अवैध निर्माण के खिलाफ एक्शन लेने की बात कही गई।

पीड़ित महिला के अनुसार, दरअसल 25 अक्टूबर को सुबह करीब 11 बजे हाउसिंग सोसायटी में कुछ लोग कवर्ड पार्किंग में तोड़फोड़ कर रहे थे। बाद पता चला कि सबकुछ राजेंद्र के इशारे पर ही किया जा रहा था। पीड़ित महिला ने आगे बताया, मैंने पूरे मामले को कैमेर में कैद कर लिया। उन लोगों से तोड़फोड़ ना करने और वहां से तुंरत जाने के लिए कहा। लेकिन वो करीब आधे घंटे बाद वापस आए इस बार उनके साथ राजेंद्र भी थे। उन्होंने मुझपर हमला कर दिया, मेरा फोन भी छीन लिया और एक कौने में धक्का दे दिया। उन्होंने कई बार मुझे थप्पड़ मारे, जिससे मेरे कान से खून तक बहने लगा। बाद में बाल खींचकर मुझे घसीटा गया। सिर पर भी हमला किया गया। टांग में भी चोट आई है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.