ताज़ा खबर
 

शिरडी: साईं के दरबार में भी दिखा नोटबंदी का असर, 6 से 9 करोड़ रुपए चढावे में आई कमी

इस चढ़ावे में ऑनलाइन 19 लाख 17 हजार रुपये और डेबिट और क्रेडिट कार्ड के जरिये 1 करोड़ 20 लाख रुपये डिजिटल डोनेशन भक्तो ने दिया है जो की पूरी तरह केश लेस है।
Author December 12, 2016 23:49 pm
शिरड़ी में साई बाबा का दरबार।

शिरडी साईंदर्शन के लिये आने वाले श्रद्धालुओं को अब साईबाबा संस्थान ट्रस्ट ने सोमवार से टाईमदर्शन की सुविधा शुरू कर दी है। साईबाबा संस्थान के चेअरमन सुरेश हावरे तथा ट्रस्ट के न्यासी की उपस्थिती में सोमवार को टाईम दर्शन का उद्घाटन किया गया। बायोमेट्रीक प्रणाली का इस्तमाल कर भक्तो को मुफ्त में टाईमदर्शन की सुविधा दी जाएगी।इससे पहले ऐसी सुविधा सिर्फ तिरूपती में थी। उसी के तर्ज पर शिरडी में भी अब टाईमदर्शन की सुविधा की गयी है। बायोमेट्रीक सिस्टम के जरिए जो भक्त शिरडी में दर्शन के लिये पहुंचेंगे उन्हें इस सिस्टम गुजरना होगा। भक्त शिरडी में कदम रखते ही अपने दर्शन का समय निश्चीत कर सकेंगे और आराम से उचित समय पर बिना भिड के दर्शन कर सकेंगे ऐसा ट्रस्ट का कहना है।शिरडी में सामान्य दर्शन कतार के सामने दस विंडो लगे है तथा ट्रस्ट के भक्तनिवासों में भी यह सुविधा उपलब्ध की गयी है। आगे जाकर जल्द ही रेल स्टेशन, बस स्टेशन, जहाँ यात्री आते हैं वहां हर जगह यह सुविधा मुहैय्या की जायेगी। तिरुपती की त्रिलोक क्राऊड मेनेजमेंट सिस्टम ने ट्रस्ट को यह निशुल्क व्यवस्थी दी है। यह योजना पुर्णत: मुफ्त है। सिस्टम पूरी तरह कार्य करेगा तब से ही सामान्य कतार से दर्शन की व्यवस्था बंद होगी। इस योजना का भक्तों ने स्वागत किया है। दूसरी तरफ VIP भक्तों के लिये शुरू पेड VIP दर्शन तथा आरती योजना में कोई बदलाव नहीं किया गया है।

तो वहीं शिरडी में भी भक्तों द्वारा चढ़ाए जाने वाले चढावे पर भी नोटबंदी का असर दिखाई दे रहा है। शिरडी के साईं बाबा संस्थान को 8 नवम्बर से 8 दिसंबर के नोटबंदी के एक महीने मैं अब तक कुल 17 करोड़ 43 लाख रुपये का चढावा भक्तो ने चढाया है। नोटबंदी के बाद आए इस चढावे में कटौती हुयी है। जबकी हर महिने साई ट्रस्ट को तकरिबन 22 से 25 करोड का चढावा मिलता है।

चीफ़ एकाऊंट ऑफिसर बाबासाहब घोरपडे की मानें तो इस चढ़ावे में ऑनलाइन 19 लाख 17 हजार रुपये और डेबिट और क्रेडिट कार्ड के जरिये 1 करोड़ 20 लाख रुपये डिजिटल डोनेशन भक्तो ने दिया है जो की पूरी तरह केश लेस है। यानि कुल चढ़ावे का 14 प्रतिशत से ज्यादा केश लेस डोनेशन आया है। जबकि डोनेशन काउंटर पर 1 करोड़ 65 लाख रुपये,चेक और डीडी के जरिये 2 करोड़ रुपये प्रसादालय के जरिये 6 लाख रुपये, VIP दर्शन के जरिये 1 करोड़ रुपये,मंदिर को मिले हैं।

इन नोटों में 2 हजार के नए नोटों की संख्या 5 हजार 286 नोट है जबकि पुराने 1000 के नोट 17 हजार 384 है वही पुराने और नए 500 के नोट मिलकर 39 हजार 472 नोट है।

नोटबंदी: सुप्रीम कोर्ट के सवाल पर सरकार का जवाब, 10-15 दिन में दूर होगी परेशानी

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.