ताज़ा खबर
 

अपने “ट्रैफिक” मैनेजमेंट आइडिया से सुर्खियों में है यह पाव वाला, मिल सकेगा कई युवाओं को रोजगार!

भारी जुर्माने के बाद भी लोग नियमों का उल्लंघन करने से नहीं रुकते, ऐसी में इस शख्स का आइडिया काफी कारगर माना जा रहा है।
केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के साथ चिन्मय कवि। (Source: Facebook)

देशभर में रोज ट्रैफिक नियमों के उल्लंघन से जुड़े कई मामले सामने आते हैं। भारी जुर्माने के बाद भी लोग नियमों का उल्लंघन करने से नहीं रुकते। ऐसी स्थिति से निपटने के लिए एक शख्स का आइडिया सुर्खियों में आ गया है। महाराष्ट्र के छिंदवाड़ गांव के चिन्मय कवि एक स्नैक शोप के मालिक हैं। पुणे मिरर की खबर के मुताबिक 30 साल के कवि ने केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी से मुलाकात कर, सीसीटीवी फुटेज के जरिए लोगों के ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन करने पर जुर्माना लगाने का एक नया तरीका बताया है और माना जा रहा है कि उनका यह आइडिया काफी कारगर साबित हो सकता है।

खबर के मुताबिक उनका आइडिया न सिर्फ सीसीटीवी फुटेज से पेनेल्टी लगाने में कारगर उपयोगी साबित होगा बल्कि इससे लोगों को रोजगार भी मिल सकेगा। कवि के इस आइडिया को स्मार्ट सिटी प्रॉजेक्ट में जगह भी मिल सकती है। कवि के मुताबिक पुलिस विभाग को हाइटेक इंफ्रास्ट्रक्चर की मदद से शहर में कई सीसीटीवी कैमरे लगाने चाहिए और उनकी 24×7 मॉनिटरिंग के लिए कम्प्यूटर की जानकारी रखने वाले युवाओं को नौकरी देनी चाहिए। कई सारे कैमरों की मॉनिटरिंग के लिए काफी लोगों की जरूरत होगी। ऐसे में युवाओं की मदद ली जा सकती है।

कवि के मुताबिक टीम सीसीटीवी फुटेज को मॉनिटर कर नियमों का उल्लंघन करने वालों की पहचान करेगी और फिर आरटीओ को फुटेज की जानकारी देगी जिससे की वह जुर्मान लगा सकेगी। इसके अवाला एक सिस्टम तैयार किया जाएगा जिससे वाहन के मालिक को तुरंत मेल या एसएमएस के जरिए चालान की जानकारी दी जा सकेगी। वहीं वाहन का इंश्योरेंस भी तभी रीन्यू हो सकेगा जब उसे आरटीओ द्वारा सभी क्लियरेंस मिल जाएंगे। अगर किसी वाहन पर लगाया गया जुर्माना भरा नहीं गया है और उसका बीमा रीन्यू हो जाता है तो बीमा कंपनी को भारी जुर्माना चुकाना होगा। यह आइडिया भी कवि ने दिया है। वहीं रकम भरने के बाद वाहन का मालिक ऑनलाइन ही क्लियरेंस ले सकेगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग