ताज़ा खबर
 

रोड पर उल्टी साइड बाइक चलाने के लिए मना किया तो इंजीनियर पर किया धारदार हथियार से हमला

इंजीनियर के लेफ्ट लंग में चोट आई है। पुणे के एक निजी अस्पताल में उसका इलाज चल रहा है।
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

पुणे में एक इंजीनियर को कुछ बाइक राइडर्स को सलाह देना भारी पड़ गया। शनिवार रात को कुछ बाइकराइडर्स पुणे के एक वयस्त रोड फर्ग्यूसन कॉलेज रोड पर उल्टी साइड में राइडिंग कर रहे थे। इंजीनियर ने ऐसा करने के लिए उन बाइक राइडर्स को मना किया। लेकिन इसका खामियाजा उस इंजीनियर को ही भुगतना पड़ा। बाइक राइडर्स ने इंजीनियर पर ही किसी धारदार हथियार से हमला कर दिया। इससे इंजीनियर के लेफ्ट लंग में चोट आई है। पुणे के एक निजी अस्पताल में उसका इलाज चल रहा है। 27 साल का इंजीनियर अपने दोस्तों के शनिवार रात करीब 11:30 बजे डिनर करने के बाद जब रेस्टोरेंट से निकला तो कुछ बाइक राइडर्स रोड पर उल्टी साइड में बाइक चला रहे थे तो इंजीनियर ने जब इसके लिए मना किया। इससे गुस्साए बाइक राइडर्स थोड़ी आगे जाकर रुके और पीछे मुड़कर देखा। उसके बाद उन्होंने अपने पास रखे छोटे धारदार हथियार निकाले और इंजीनियर पर हमला कर दिया। इससे वह इंजीनियर घायल हो गया।

उसके बाद इंजीनियर के दोस्तों ने उसे हडपसर में एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया है। जहां उसका इलाज चल रहा है उसकी हालत स्थिर बताई जा रही है। दक्कन जिमखाना पुलिस ने कहा कि यह हमला छाती के काफी करीब था अगर थोड़ा और उपर होता तो यह घातक हो सकता था। टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक पुलिस ने जांच शुरू तो कर दी है लेकिन इंजीनियर ने एफआईआर करने की इच्छा नहीं जताई है। घटना के तुरंत बाद बाइक राइडर्स वहां से फरार हो गए।

पुलिस ने हमले को स्टेशन डायरी में दर्ज कर लिया है। पुलिस ने बताया कि जब इंजीनियर को अस्पताल में भर्ती किया गया तो हॉस्पिटल ने ही उनको इस घटना की सूचना दी लेकिन जब पुलिस हॉस्पिटल पहुंची तो इंजीनियर ने एफआईआर दर्ज कराने में कोई दिलचस्पी नहीं दिखाई। पुलिस ने बताया कि उसके इंजीनियर की लेफ्ट लंग में दो गहरे जख्म हैं। पुलिस राइडर्स को पकड़ने के लिए रेस्टोरेंट में लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज भी देखेगी। जिससे बाइक के नंबर का पता चल सके। बाइक का नंबर पता चलने के बाद उन राइडर्स का पता आसानी से लगाया जा सकता है।

दिल्ली: JNU के छात्र ने आत्महत्या की, पंखे से लटकता मिला शव, देखें वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.