May 23, 2017

ताज़ा खबर

 

सर्जिकल स्‍ट्राइक को फर्जी बताने वाले संजय निरुपम पर भड़की शिवसेना, राष्‍ट्रद्रोह का मामला दर्ज करने की मांग

शिवसेना प्रवक्ता मनीषा कायांदे ने कहा, ‘‘निरूपम को सेना पर आंख मूंद कर विश्वास करने की सीख हासिल करने की जरूरत है।"

Author मुंबई | October 5, 2016 18:15 pm
शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे (फाइल फोटो)

शिवसेना ने सेना की निष्ठा पर सवाल उठाने के लिए कांग्रेस नेता संजय निरूपम पर राष्ट्रद्रोह का मामला दर्ज करने की मांग करते हुए पार्टी के मुंबई प्रमुख पद से उन्हें तत्काल हटाये जाने की आज मांग की। निरूपम ने नियंत्रण रेखा के पार आतंकी ठिकानों पर सेना के लक्षित हमले सर्जिकल स्ट्राइक) की सच्चाई पर सवाल उठाते हुए कल इसे फर्जी बताया था। उन्होंने लक्षित हमले को लेकर सबूत की मांग करते हुए केंद्र में काबिज भाजपा पर इस मुद्दे पर राजनीति करने का आरोप लगाया था। कांग्रेस नेता ने एक ट्वीट में कहा था, ‘‘हर भारतीय पाकिस्तान के खिलाफ लक्षित हमले चाहता है लेकिन सिर्फ राजनीतिक लाभ पाने के मकसद से भाजपा की तरह फर्जी वाला नहीं। राष्ट्रीय हित पर राजनीति।’’ इस मुद्दे पर निरूपम के बयान के बाद नये विवाद का सूत्रपात हो गया। शिवसेना प्रवक्ता मनीषा कायांदे ने कहा, ‘‘निरूपम को सेना पर आंख मूंद कर विश्वास करने की सीख हासिल करने की जरूरत है। यह आश्चर्यजनक है कि उन्होंने ऐसे समय में सैन्य अभियानों की सच्चाई पर सवाल उठाया जब उनकी पार्टी के ही अध्यक्ष और उपाध्यक्ष ने इस मुद्दे पर बिल्कुल स्पष्ट रुख अख्तियार किया।’’ उन्होंने दावा किया कि सेना की कार्रवाई से पहले प्रधानमंत्री ने सभी विपक्षी दलों को विश्वास में लिया था और नियंत्रण रेखा की वास्तविक स्थिति से उन्हें अवगत कराया था।

सर्जिकल स्‍ट्राइक पर इंडियन एक्‍सप्रेस का बड़ा खुलासा, देखें वीडियो: 

मनीषा ने कहा, ‘‘हम लोग निरूपम पर देशद्रोह का मामला दर्ज करने की मांग करते हैं क्योंकि वह शत्रु राष्ट्र की तर्ज पर चल रहे हैं, जिसने कहा कि लक्षित हमला कभी हुआ ही नहीं। उन्होंने विश्व नेताओं के सामने देश की छवि को नुकसान पहुंचाया है।’’ शिवसेना नेता ने कहा, ‘‘साथ ही हम लोग उनको पद से हटाये जाने की मांग भी करते हैं क्योंकि जो व्यक्ति सेना का आदर नहीं कर सकता वह कभी लोगों का सम्मान भी नहीं कर सकता और ना ही उनकी सेवा कर सकता है ।’’ इसी बीच अलग रच्च्ख रखते हुए कांग्रेस नेता आरिफ नसीम खान ने कहा कि राजनीतिक लाभ के लिए निरूपम को इस संवेदनशील मुद्दे का इस्तेमाल करने की जरूरत नहीं थी।

READ ALSO: दुनिया की सबसे छोटी मशीनें बनाने वाले तीन वैज्ञानिकों को मिला केमिस्‍ट्री का नोबेल पुरस्‍कार

उन्होंने कहा, ‘‘देश की एकता और सुरक्षा के मुद्दे पर सभी दल एक हैं। साथ ही कांग्रेस अध्यक्ष (सोनिया गांधी) और उपाध्यक्ष (राहुल गांधी) ने इस मुद्दे पर बिल्कुल स्पष्ट रुख अख्तियार किया। ऐसे में कोई कारण नहीं बनता कि निरूपम जी जैसे अन्य पार्टी नेता इस मुद्दे पर अलग रच्च्ख रखें।’’ खान ने कहा, ‘‘राजनीतिक लाभ के लिए इस तरह के संवेदनशील मुद्दे का इस्तेमाल ठीक नहीं है।’’ कांग्रेस ने कल यह कहते हुए निरूपम के बयान से खुद को अलग कर लिया था कि सशस्त्र बलों पर उसका पूरा भरोसा है। हालांकि पार्टी ने सरकार से पाकिस्तान के झूठ और दुष्प्रचार को बेनकाब करने के लिए सभी तरह की सूचनाओं और साक्ष्यों का इस्तेमाल करने के लिए कहा था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 5, 2016 6:15 pm

  1. No Comments.

सबरंग