ताज़ा खबर
 

नोटबंदी पर मोदी की भावुक टिप्पणी पर शिवसेना ने ली चुटकी

मोदी ने भावुक होते हुए कहा था कि उनके खिलाफ कुछ ताकतें हैं जो उन्हें जीने नहीं देना चाहतीं।
Author मुंबई | November 15, 2016 20:00 pm
उत्तर प्रदेश के गाज़ीपुर में भाजपा की परिवर्तन रैली को संबोधित करते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। (PTI Photo/14 Nov, 2016)

देश में 500 और 1000 रुपए के पुराने नोटों को चलन से बाहर करने के मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की भावुक लहजे में की गई टिप्पणी पर चुटकी लेते हुए शिवसेना ने मंगलवार (15 नवंबर) को कहा कि बड़े नोटों को समाप्त करने के उनके फैसले से उनकी जिंदगी उस तरह खतरे में नहीं पड़ जाएगी जिस तरह इंदिरा गांधी और राजीव गांधी को देश के महान लक्ष्यों के लिए संघर्ष करते हुए मार दिया गया था। गोवा में 13 नवंबर को एक समारोह में अपने भाषण में मोदी ने भावुक होते हुए कहा था कि उनके खिलाफ कुछ ताकतें हैं जो उन्हें जीने नहीं देना चाहतीं और नोटबंदी के उनके फैसले को लेकर उन्हें पूरी तरह तबाह कर देना चाहती हैं। मोदी ने कहा था कि वह किसी भी नतीजे को भुगतने को तैयार हैं । उन्हें जिंदा भी जला दिया जाए तो भी वे झुकेंगे नहीं। इस पर शिवसेना के मुखपत्र ‘सामना’ में प्रकाशित एक संपादकीय में लिखा गया है, ‘प्रधानमंत्री मोदी अभेद्य सुरक्षा घेरे में हैं और उन्हें एक मच्छर भी नहीं काट सकता। देश के लिए उन असंख्य स्वतंत्रता सेनानियों ने कुर्बानी दी है। पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने खालिस्तानी राष्ट्रविरोधी तत्वों के खिलाफ जंग लड़ी थी जिसके लिए उन्हें कुर्बानी देनी पड़ी।’

शिवसेना ने लिखा, ‘श्रीलंका में शांति रक्षण बलों को भेजने के राजीव गांधी के फैसले पर सवाल उठाए जा सकते हैं लेकिन उन्हें बदले में अपनी जान की कुर्बानी देनी पड़ी।’‘सामना’ के लेख के अनुसार, ‘मोदी ने केवल मुद्रा के नोट बदले हैं, जिसका अर्थ पाकिस्तान पर हमला करना या जमात-उद-दावा के प्रमुख हाफिज सईद को भारत खींचकर लाना नहीं है। इसलिए उन्हें आतंकवादियों से कोई खतरा नहीं है। आम आदमी डरा हुआ है।’ उन्होंने कहा, ‘प्रधानमंत्री मोदी को खुद को सजा देनी चाहिए।’ शिवसेना के मुताबिक लोग चुपचाप और शांतिपूर्ण तरीके से सह रहे हैं और मोदी को अपनी जिंदगी के लिए डरने की जरूरत नहीं है। महाराष्ट्र में और केंद्र में भाजपा नीत सरकारों में भाजपा की सहयोगी होने के बावजूद शिवसेना ने नोटों पर सरकार के फैसले पर सख्त रुख अपनाया है।

VIDEO: नोटबंदी पर रोक लगाने से सुप्रीम कोर्ट ने किया इंकार

VIDEO: बार-बार नोट बदलवाने को लेकर सरकार का बड़ा फैसला; नोट बदलवाने पर लगेगा स्याही का निशान

VIDEO: नोटबंदी पर अखिलेश यादव का बयान- “किसानों को राहत मिलनी चाहिए”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. B
    bitterhoney
    Nov 15, 2016 at 6:08 pm
    जब राहुल गाँधी बैंक की लाइन में पुराने नोट बदलवाने के लिए लगे तो उनपर मोदी जी ने बड़ा तीखा कटाच्छ किया था. आज मोदी जी ने अपनी बूढी माँ को केवल जनता की ानि प्राप्त करने के लिए लाइन में खड़ा कर दिया. मोदी जी प्रधान मंत्री बने रहने के लिए कुछ भी कर सकते हैं. कल जिस प्रकार जन सभा के संबोधन से पहले मोदी जी ने जनता के समक्ष लेट लेट कर दंडवत किया क्या कभी पहले भी ऐसा दंडवत किया था? मोदी जी जनता को मूर्ख समझ रक्खा है. जनता इसका उत्तर मोदी जी को अगले चुनाव में देगी.
    Reply
  2. S
    shulpani mishra
    Nov 15, 2016 at 10:34 pm
    इहो बोरी भर के रखो होंगे,,,,
    Reply
सबरंग