ताज़ा खबर
 

एलफिंस्‍टन भगदड़: रेलवे ने भारी बारिश को बताया जिम्‍मेदार, अधिकारी बोले- भीड़ बढ़ती गई जिससे हादसा हुआ

रिपोर्ट में वेस्टर्न रेलवे (डब्ल्यूआर) ने संबंधित अधिकारियों को क्लीन चिट दी है।
फुट ओवर ब्रिज पर भगदड़ से अब तक 23 लोगों की मौत हो चुकी है।

मुंबई के एलफिंस्टन रोड स्टेशन ब्रिज पर मची भगदड़ मामले की रिपोर्ट आ गई है। रिपोर्ट में वेस्टर्न रेलवे (डब्ल्यूआर) ने संबंधित अधिकारियों को क्लीन चिट दी है। इसमें हादसे की वजह भारी बारिश और ब्रिज पर बढ़ती भीड़ को बताया है। रिपोर्ट में कहा गया है कि 29 सितंबर की सुबह भारी बारिश की वजह से ब्रिज पर इकाएक भीड़ बढ़ गई। इससे वहां भगदड़ मच गई और 23 लोगों की जान चली गई, साथ ही कुछ लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। वेस्टर्न रेलवे के पीआर अधिकारी रवींद्र भाकर ने बताया कि ब्रिज पर हादसे की वजह भारी भीड़ और बारिश थी। इसलिए घटना को लेकर किसी को जिम्मेदार नहीं ठहराया जा सकता। पूरे मामले की जांच रेलवे के पांच सीनियर अधिकारियों और सुरक्षा प्रमुख ने मिलकर की थी। मंगलवार (10 अक्टूबर) शाम वेस्टर्न रेलवे के जनरल मैनेजर के पास रिपोर्ट जमा करा दी गई है। रिपोर्ट में आगे कहा गया कि ब्रिज पर भारी भीड़ के दौरान किसी यात्री ने ‘फूल गिर गया’ कहा। इसे अन्य यात्रियों ने ‘पुल गिर गया’ समझ लिया, जिससे वहां अफरा-तफरी मच गई और कई लोगों की जान चली गई।

गौरतलब है कि ब्रिज पर भगदड़ शुक्रवार (29 सिंतबर) सुबह 11:30 से 11 बजे की बीच तब मची जब बारिश की वजह से लोग काफी तादाद में ब्रिज पर थे। हालांकि पहले पुलिस को शक था कि ब्रिज के पास तेज आवाज के साथ हुए शॉट सर्किट के वजह से लोगों में दहशत फैल गई और वह भागने लगे। लेकिन रिपोर्ट में हादसे की इस कथित वजह का ज्रिक नहीं है। जानकारी के लिए बता दें कि हादसे से दो दिन पहले इसी फुट ओवर ब्रिज पर हजारों यात्रियों की भीड़ की तस्वीर शेयर करते हुए फेसबुक पर एक शख्स ने खतरे की बात बताई थी। अब ये कहा जा रहा है कि अगर रेलवे इसपर कोई एक्शन लेता तो आज इतने लोगों की जान नहीं जाती।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग