ताज़ा खबर
 

गूगल की नौकरी छोड़कर मटन समोसा बेच रहा है यह शख्स, टर्नओवर जानकर रह जाएंगे हैरान

कामयाबी की मिसाल वही लोग पेश कर पाते हैं जो जोखिम उठाने को तैयार होते हैं।
मुनाफ कपाड़िया। (Source: Facebook)

जिंदगी में रिस्क लेना भी बेहद जरूरी माना जाता है। कामयाबी की मिसाल वही लोग पेश कर पाते हैं जो जोखिम उठाने को तैयार होते हैं। ऐसे ही एक शख्स ने जोखिम उठाया और आज वह शौहरत की बुलंदियों पर है। मुनाफ कपाड़िया ने अपनी नौकरी छोड़कर मटन समोसे बेचने का फैसला लिया और उसमें वह सफल भी रहे। मुनाफ ने मुंबई के नर्सी मोंजी इंस्टिट्यूट से एमबीए की पढ़ाई की। पढ़ाई पूरी करने के बाद उन्होंने कुछ कंपनियों में नौकरी की और फिर विदेश चले गये। आखिर में उन्हें गूगल में नौकरी का सुनहरा मौका मिल गया। मगर गूगल में भी मुनाफ को संतुष्टि नहीं मिली। उन्हें लगा कि वह इससे कुछ अलग करना चाहते हैं। मुनाफ को बिजनेस का आडिया आया और फिर इसकी शुरुआत की।

यह जोखिम उठाने के बाद मुनाफ अब ‘द बोहरी किचन’ रेस्‍टोरेंट के मालिक हैं जिसका सालाना टर्नओवर लगभग 50 लाख रुपये का है। सिर्फ इतना ही नहीं, फॉर्ब्स मैग्जीन ने मुनाफ को अपने कवर पेज पर जगह दी थी। मुनाफ ने अपना रेस्तरां शुरू करने के लिए अपनी मां नफीसा से मदद ली। उनकी मां अमूमन ज्यादातर समय घर में टीवी पर फूड शो देखते हुए बिताती थीं। मुनाफ को लगा कि वह अपनी मां से टिप्स लेकर फूड चेन का काम शुरू कर सकते हैं। मुनाफ ने अपनी मां के हाथों का बना हुआ खाना कई लोगों को खिलाया। ज्यादातर लोगों को खाना पसंद आया और इसके बाद मुनाफ ने रेस्तरां की शुरुआत की।

आज मुनाफ का “द बोहरी किचन” न सिर्फ मुंबई बल्कि देशभर में भी मशहूर है। उनके रेस्तरां का सबसे बेहतरीन, लजीज और मशहूर फूड आइटम मटन समोसा माना जाता है। मगर “द बोहरी किचन” सिर्फ मटन समोसा के लिए ही मशहूर नहीं है। नरगि‍स कबाब, डब्‍बा गोश्‍त, करी चावल समेत ऐसी कई डिशेज हैं जिनके लिए “द बोहरी किचन” मशहूर है। कीमा समोसा के अलावा मटन रान भी रेस्तरां की एक महशूर और लजीज खाना माना जाती है। बीते दो सालों में ही रेस्तरां का टर्नओवर 50 लाख रुपये तक पहुंच गया है। “द बोहरी किचन” को अपने लजीज खाने के लिए कई सेलेब्स द्वारा भी तारीफ मिल चुकी है। आशुतोष गोवारिकर और फराह खान जैसी मशहूर हस्तियां भी “द बोहरी किचन” के लजीज खाने का लुत्फ उठा चुके हैं और सोशल मीडिया पर इसकी तारीफ भी कर चुके हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on July 14, 2017 1:48 pm

  1. No Comments.
सबरंग