ताज़ा खबर
 

मुंबई बारिश: अब तक 15 की मौत, शिव सेना ने की BMC की तारीफ

Mumbai Rains, Weather Today: मुंबई में 9 घंटों के भीतर 298 मिलीमीटर बारिश हुई, जिससे भयावह स्थिति बन गई।
Mumbai Rains, Weather Today Live: बारिश से सड़कों पर कमर तक पानी भर गया जिससे मुंबई की रफ्तार बेहद धीमी हो गई है।

देश की आर्थिक राजधानी मुंबई भयंकर बारिश से त्रस्‍त है। मुंबई में 29 अगस्‍त को 298 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई, जो कि 1997 से अबतक अगस्त में एक दिन में हुई सर्वाधिक बारिश है। लगातार भारी बारिश के बाद जनजीवन के अस्त-व्यस्त हो जाने, सड़क, रेल एवं वायु यातायात अवरूद्ध हो जाने के बाद परेशानियों से भरे अगले दिन के लिए मुंबई तैयार है। अलबत्ता, रात में बारिश का जोर कुछ घटने से आज थोड़ी राहत मिलने की उम्मीद है। महानगर में फिर से भारी बारिश के संकेतों के बीच प्रशासन ने स्कूलों और कॉलेजों को बंद रखे जाने के निर्देश दिए हैं। शहर और इसके उपनगरों में आज वस्तुत: एक तरह से सार्वजनिक अवकाश है। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने लोगों को सलाह दी है कि जब तक कोई आपात स्थिति न हो, घर से नहीं निकलें। फडणवीस ने कहा, ‘‘जरूरी सेवाओं और सरकार के अत्यंत महत्वपूर्ण कर्मी आज ड्यूटी पर रहेंगे।’’ पश्चिमी रेलवे की उपनगरीय रेल सेवाएं आधी रात के आसपास बहाल हो गईं। मध्य रेलवे की रेल सेवाओं का अभी भी पटरी पर लौटना बाकी है।

सैंकड़ों लोग अब भी छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस पर फंसे हैं और अपने घर जाने का इंतजार कर रहे हैं। प्रतिदिन 65 लाख से ज्यादा यात्रियों को लाने-ले जाने वाला मुंबई का उपनगरीय ट्रेन नेटवर्क देश की इस वित्तीय राजधानी की जीवनरेखा है। इसकी सेवाएं रूक जाने से दफ्तर जाने वाले लोगों को भारी असुविधा का सामना करना पड़ा है। कल ये लोग भारी बारिश के बावजूद अपने दफ्तरों तक गए थे। मौसम विभाग के एक अधिकारी ने कहा कि कल नौ घंटे में मुंबई में 298 मिमी बारिश हुई है। यह मुंबई में आम तौर पर होने वाली बारिश से नौ गुना ज्यादा है। उन्होंने कहा कि भारी बारिश आज भी जारी रह सकती है।

यहां पढ़ें Mumbai Rains Flood Updates:

– अभिनेता गोविंद नामदेव ने मुंबई में भारी बारिश के कारण पैदा हुए बाढ़ के हालात के मद्देनजर शहर की सड़कों पर भीख मांगने वालों को सहायता के तौर पर भोजन, छाते और रेनकोट दिए। गोविंद ने अपने बयान में कहा, “मंगलवार शाम मेरी कार ट्रैफिक जाम में फंस गई थी, फिर मैंने सिग्नल के पास बच्चों को देखा जो आसपास भरे पानी से परेशान थे। वहां कई छोटी लड़कियां बच्चों के साथ थीं, जिनकी उम्र महज पांच-छह महीने थी। उनकी माएं उन्हें कपड़ों और फटे छातों के जरिए बारिश में भीगने से बचाने की कोशिश कर रही थीं।”

– आईएमडी के अनुसार, मध्य महाराष्ट्र तथा मराठवाड़ा क्षेत्र, पड़ोसी राज्यों गोवा, गुजरात के कच्छ तथा सौराष्ट्र क्षेत्रों में भी बुधवार से शुरू होकर रविवार तक भारी बारिश के आसार हैं। मुंबई में मंगलवार को 12 घंटे में 316 मिलीमीटर बारिश हुई, जो 26 जुलाई 2005 को शहर में पैदा हुए बाढ़ के हालात से बड़ा रिकॉर्ड है।

– एनडीआरएफ की टीमें हाई एलर्ट पर रखी गई हैं। मुंबई में 3 टीमें तैनात हैं और पुणे से अतिरिक्‍त टीमें स्‍टैंडबाई पर रखी गई हैं।

– सियोन फ्लाईओवर पर सड़क रिपेयर होने की वजह से ट्रैफिक धीरे-धीरे चल रहा है।

– भारतीय नौसेना ने छत्रपति शिवाजी टर्मिनस रेलवे स्‍टेशन के बाहर मौजूद लोगों को नाश्‍ता और चाय उपलब्‍ध कराई है।

– अंधेरी के चकाला इलाके में मेट्रो ब्रिज गिरने की अफवाह सुबह से तैर रही है। मौके पर हमारे सहयोगी द इंडियन एक्‍सप्रेस के रिपोर्टर्स ने इसे फर्जी पाया है। कृपया अफवाह फैलाने से बचें।

– शिव सेना ने बीएमसी की तारीफ करते हुए कहा है कि उसने हालात काबू से बाहर नहीं जाने दिए। पार्टी के मुखपत्र ‘सामना’ में लिखा गया है, ”बीएमसी की तैयारियों ने प्राकृतिक आपदा को बेकाबू होने से रोक लिया। इसके लिए उसकी तारीफ होनी चाहिए।

– सियोन, मातुंगा जैसे इलाकों में पानी नहीं भरा है, मगर छोड़े गए वाहनों की वजह से ट्रैफिक में दिक्‍कत आ रही है। पानी हर जगह से निकल गया है। ट्रैफिक की सामान्‍य हो गया है।

– दादर के मटकर रोड पर एक व्‍यक्ति की खुले मैनहोल में गिरने से मौत हो गई। पुलिस ने प्रत्‍यक्षदर्शियों की गवाही पर मामला दर्ज कर लिया है।

– पिछले 24 घंटों (8.30am-8.30pm) के बीच सांताक्रूज में 331.3 मिलीमीटर बारिश रिकॉर्ड की गई है, वहीं कोलाबा में 11 मिमी बारिश हुई है।

– कुर्ला के स्‍लम में रहने वालों ने एएनआई से कहा कि उन्‍हें प्रशासन की तरफ से कोई मदद नहीं मिली है।

– मुंबई एयरपोर्ट के पीआरओ ने कहा है कि यहां पर प्रचालन सामान्‍य ढंग से चल रहा है।

– राज्‍य के आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने भी आज कम बारिश होने की संभावना जताई है। एक अधिकारी ने पीटीआई से कहा, ”आईएमडी ने आज भारी बारिश की संभावना जताई है, मगर यह कल से कम रहेगी।”

– मुंबई तक पहुंचने वाली दो अहम सड़कें यानी ईस्टर्न एक्सप्रेस हाइवे और वेस्टर्न एक्सप्रेस हाइवे पर कल यातायात बहुत धीमी गति से चल रहा था। धीरे-धीरे ये सड़कें सामान्य स्थिति की ओर लौट रही हैं। नौसेना के प्रवक्ता ने कहा था कि मुंबई और इसके आसपास के इलाकों में भारी बारिश के चलते नौसेना के हेलीकॉप्टरों को तैयार रखा गया है। बाढ़ बचाव दल और गोताखोर तैनाती के लिए तैयार हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.