ताज़ा खबर
 

महाराष्ट्र: मरीज को रेफर करने की सलाह से नाराज हुए परिजन, 30 लोगों ने मिलकर डॉक्टर को बुरी तरह पीटा

स्थानीय पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज किया गया है और अब तक 9 आरोपियों की गिरफ्तारी की जा चुकी है
डॉक्टर रोहन ममोरकर को छाती, सर और पेट में गंभीर चोटें आईं। उनकी आंख भी सूझ गई (Photo: ANI)

महाराष्ट्र राज्य के धुले शहर में एक डॉक्टर को मरीज के परिजनों ने बुरी तरह पीट दिया। घटना गुरुवार को धुले सिविल हॉस्पिटल की है जब एक हड्डी का डॉक्टर से इलाज में देरी के आरोप में मरीज के रिश्तेदारों ने मारपीट की। डॉक्टर और मरीजों के बीच टकराव की बढ़ती घटनाओं को देखते हुए पीड़ित डॉक्टर ने अस्पताल परिसर में कड़ी सुरक्षा की मांग की है। अस्पताल सूत्रों के मुताबिक, सिर में चोट लगने के बाद एक मरीज को इस अस्पताल में भर्ती कराया गया था। लेकिन डॉक्टर ने हॉस्पिटल में न्यूरोसर्जन ना होने की बात कहकर मरीज को दूसरे हॉस्पिटल में ले जाने की सलाह दे दी। इस पर मरीज के रिश्तेदार भड़क उठे और डॉक्टर को रॉड से पीटने लग गए।

इसमें पीड़ित डॉक्टर रोहन ममोरकर को छाती, सर और पेट में गंभीर चोटें आईं। उनकी आंख भी सूझ गई। फिलहाल वह शहर के ज्यूपिटर हॉस्पिटल में एडमिट हैं। घटना की एक सीसीटीवी फुटेज भी सामने आई है। इसमें हॉस्पिटल के भीतर ही 30 लोग डॉक्टर पर हमला बोलते दिख रहे हैं। इस घटना का वीडियो सामने आने के बाद महाराष्ट्र सरकार के हेल्थ डिपार्टमेंट ने पूरे मामले की जांच का आदेश दे दिया है। स्थानीय पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज किया गया है और अब तक 9 आरोपियों की गिरफ्तारी की जा चुकी है। धुले के एसपी ने बताया, “पहचाने गए लोगों में से 9 की गिरफ्तारी हुई है और मामले में 3 एफआईआर दर्ज की गई हैं।”

उधर सहयोगी की पिटाई के बाद धुले में डॉक्टरों ने विरोध प्रदर्शन किया है। एक डॉक्टर ने कहा, “हमारे साथ यह स्थिति पहले भी कई बार हो चुकी है। कल वो (रोहन) था आगे कोई और होगा। जिन लोगों ने ऐसा किया है उन्हें कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए, इसलिए हम हड़ताल पर जा रहे हैं। हमारे साथ आगे ऐसा कभी ना हो इसलिए कड़ी सुरक्षा के इंतजाम किए जाने चाहिए।”

हैदराबाद: दोस्त से पत्नी का रेप करवाने वाले NRI को पुलिस ने किया गिरफ्तार

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग