ताज़ा खबर
 

स्लम पुनर्वास घोटाला मामले में कांग्रेस नेता बाबा सिद्दीकी के ठिकानों पर ED की छापेमारी

मुंबई में कांग्रेस नेता बाबा सिद्दीकी और रफीक कुरैशी के अलग-अलग जगहों पर प्रवर्तन निदेशालय रेड डाली है।

मुंबई में कांग्रेस नेता बाबा सिद्दीकी और रफीक कुरैशी के अलग-अलग जगहों पर प्रवर्तन निदेशालय रेड डाली है। समाचार एजंसी एएनआई के मुताबिक यह जानकारी सामने आ रही है। खबर के मुताबिक प्रवर्तन निदेशालय ने यह छापेमारी राज्य में हुए स्लम पुनर्वास घोटाले के मामले में डाल है। शुरुआती जानकारी के मुकाबिक बाबा सिद्दीकी के लगभग 5 ठिकानों पर रेड डाली गई है। इनमें से एक उनका बांद्रा स्थित आवास भी शामिल है। वहीं बाकी रेड्स की डीटेल्स देने से अधिकारियों ने इंकार कर दिया है। रिपोर्ट्स के मुताबिक माना जा रहा है कि रेड 400 स्लम रिहैब्लिटेशन घोटाले के मामले में डाली गई हैं। बांद्रा पुलिस ने बाबा सिद्दीकी के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज की है। अधिकारी उनकी कंपनी पिरामिड फंड्स के वित्ती लेनदेन की जानकारी ले रहे हैं। बाबा सिद्दीकी मुंबई में बांद्रा पश्चिम सीट से लगातार तीन बार विधायक रह चुके हैं और राज्य में कांग्रेस के दिग्गज नेता माने जाते हैं।

दरअसल स्लम रिहैब्लिटेशन का मामला प्रोजेक्‍ट के चलते हुई मनी लांड्रिंग से जुड़ा है। वह एनसीपी-कांग्रेस सरकार में भी मंत्री रह चुके हैं। दरअसल स्लम रिहैब्लिटेशन का मामला प्रोजेक्‍ट के चलते हुई मनी लांड्रिंग से जुड़ा है। सिद्दीकी पर आरोप है कि उन्होंने फर्जी दस्तावेज बनवा कर फायदा लिया था। रिपोर्ट्स के मुताबिक, बांद्रा इलाके के स्लम प्लॉट को डेवलप करने के लिए उसका एक हिस्सा स्लम के लोगों को बना कर देना होता है। आरोप है कि इस स्कीम में फर्जी दस्तावेजों के जरिए उन्होंने घोटाला किया गया है। उनपर 100 करोड़ रुपये के घोटाले का आरोप लगा है। वहीं बाबा सिद्दीकी के सहयोगी बिल्डर रफीक मकबूल कुरेशी के ठिकानों पर भी छापेमारी की गई है।

बाबा सिद्दीकी, सलमान खान और शाहरुख खान जैसी मशहूर हस्तियों के साथ दोस्‍ती के कारण भी सुर्खियों में रहते हैं। साथ ही हर साल रमजान के महीने में उनके द्वारा दी जाने वाली इफ्तार रोजा-इफ्तार पार्टियां भी खासी चर्चा में रहती है। अमूमन इनकी पार्टियों में बॉलीवुड के कई बड़े सेलेब्स भी शामिल होते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग