ताज़ा खबर
 

बिल्डर से अपनी ही जमीन वापस लेने के लिए दिलीप कुमार देंगे 20 करोड़ रुपए

पाली हिल की संपत्ति का सौदा एक दशक पहले दिलीप कुमार ने प्राजिता डेवलेपर्स प्राइवेट लिमिटेड से किया था।
दिलीप कुमार: भारतीय फिल्म उद्योग में ‘ट्रेजडी किंग’ के नाम से मशहूर दिलीप कुमार ‘देवदास’ और ‘मुगल-ए-आज़म’ जैसी यादगार फिल्मों में अपनी संजीदा भूमिकाओं के लिए जाने जाते हैं। बॉलीवुड में आने से पहले दिलीप कुमार का नाम मोहम्मद यूसुफ खान था। लोग दिलीप कुमार को उनके नाम की वजह से हिंदू समझते हैं।(Photo: Facebook)

सुप्रीम कोर्ट ने फिल्म अभिनेता दिलीप कुमार को 20 करोड़ देने का हुक्म सुनाया है। कोर्ट ने सदाबहार अभिनेता से कह है कि वह मुंबई के पाली हिल संपत्ति के मामले में रियल एस्टेट कंपनी को रेजिस्ट्री के साथ 20 करोड़ रुपये दें। अपनी पाली हिल की संपत्ति का सौदा एक दशक पहले दिलीप कुमार ने प्राजिता डेवलेपर्स प्राइवेट लिमिटेड से किया था।

दरअसल मुंबई की प्राइम लोकेशन पर दिलीप कुमार की 2412 वर्ग गज की इस जमीन है। जिसे उन्होंने प्राजिता डेवलेपर्स बिल्डर को दिया था। बिल्डर को उस जमीन पर फ्लेट बनाने थ। इन फ्लैट में मालिक (दिलीप कुमार) और बिल्डर का 50-50 फीसद हिस्सा रहती। लेकिन बिल्डर ने तय समझौते के मुताबिक कोई काम शुरू नहीं किया तो दिलीप कुमार ने इस पर ऐतराज जताया और अपनी जमीन वापस मांगी जिसपर अब बिल्डर का कब्जा है।

एक दशक से यह मामला कोर्ट में विचाराधीन है। बिल्डर जमीन खाली करने को तैयार नहीं है। इसी केस  जस्टिस जे.चेलमेस्वर के नेतृत्व वाली बैंच ने बुधवार को बॉलीवुड अभिनेता दिलीप कुमार से कहा कि वह चार हफ्ते में 20 करोड़ रुपये का डिमांड ड्राफ्ट बनवाकर जमा करें और इसकी जानकारी बिल्डर की कंपनी को भी दें। रकम मिलने के एक हफ्ते के अंदर प्राजिता डेवलेपर को विवादित प्लॉट से अपनी सुरक्षा हटानी होगी और मुंबई पुलिस कमिश्नर और अन्य वरिष्ठ अधिकारियों के सामने उन्हें संपत्ति का कब्जा दिलीप कुमार को देना होगा।

मुंबई के पुलिस कमिश्नर या उनके स्थान पर नामित व्यक्ति के समक्ष संपत्ति लौटाए जाने पर एक पंचनामा तैयार करना होगा। कंपनी की ओर से 20 करोड़ रुपये से अधिक का हर्जाना मांगने के मामले पर अदालत उसके बाद विचार करेगी। वह देखेगी कि बिल्डर की कंपनी को वाकई इससे अधिक नुकसान हुआ था या नहीं। बताया जाता है कि

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग