ताज़ा खबर
 

‘घी-खिचड़ी की तरह हैं भाजपा-शिवसेना, बीएमसी चुनावों के बाद फिर मिल जाएंगी’

भाजपा पर निशाना साधते हुए तिवारी ने आरोप लगाया कि साजिश की कहानी गढ़ने वालों की पार्टी है।
Author मुंबई | February 16, 2017 19:14 pm
शिवसेना ने घोषणा की है कि वो आगामी बीएमसी चुनावों में बीजेपी के साथ गठबंधन नहीं करेगी और अकेले चुनाव लड़ेगी। (File Photo)

भाजपा और शिवसेना को ‘घी-खिचड़ी’ करार देते हुए कांग्रेस ने गुरुवार (16 फरवरी) को कहा कि दोनों पार्टियां बीएमसी चुनावों के बाद फिर से मिल जाएंगी। पूर्व केंद्रीय मंत्री मनीष तिवारी ने भाजपा और शिवसेना पर हमला बोलते हुए यह भी कहा कि दोनों पार्टियां 1996 से ही बीएमसी की सत्ता में हैं और पिछले 20 साल में मुंबई की बुनियादी संरचना पूरी तरह चौपट हो गई है। तिवारी ने कहा, ‘(ईस्टर्न) फ्रीवे, बांद्रा-वर्ली सीलिंक, मेट्रो और मोनोरेल जैसे विकास के जो भी काम दिख रहे हैं, वे संप्रग और राज्य में कांग्रेस की अगुवाई वाली गठबंधन सरकार के समय हुए।’ कांग्रेस प्रवक्ता ने केंद्र की मोदी सरकार पर आरोप लगाया कि उसने ‘मुंबई के विकास के लिए एक भी परियोजना, नीति या योजना नहीं बनाई।’ भाजपा पर निशाना साधते हुए तिवारी ने आरोप लगाया कि साजिश की कहानी गढ़ने वालों की पार्टी है और प्रधानमंत्री मोदी की अभद्र भाषा की विरासत राज्यों तक पहुंच गई है।

यहां एक संवाददाता सम्मेलन के दौरान तिवारी ने आरोप लगाया, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जिस तरह की भाषा का इस्तेमाल करते हैं, जैसे ‘रेनकोट’, और आरोप लगाते हैं कि कांग्रेस ने मुलायम सिंह यादव की हत्या करने की कोशिश की……यह दिखाता है कि भाजपा साजिश की कहानियां गढ़ने वालों की पार्टी है। मोदी की अभद्र भाषा की विरासत अब राज्यों तक पहुंच गई है।’ उन्होंने यह भी कहा कि महाराष्ट्र में शिवसेना और भाजपा के नेता जिस तरह के आरोप लगा रहे हैं, उससे दिखता है कि प्रधानमंत्री ने राजनीतिक विमर्श के स्तर को गिरा दिया है। तिवारी ने कहा कि शिवसेना और भाजपा ‘घी-खिचड़ी’ हैं और दोनों पार्टियां निकाय चुनावों के बाद फिर से मिल जाएंगी।

उद्धव ठाकरे का ऐलान- मुंबई निगम चुनाव में अकेले लड़ेगी शिवसेना

शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने गुरुवार (26 जनवरी) को ऐलान किया कि नगर निगम चुनावों में उनकी पार्टी अकेले उतरेगी लेकिन इस बारे में कुछ नहीं बताया कि राजग सरकार में उनका दल गठबंधन सहयोगी बना रहेगा या नहीं। इस घटनाक्रम पर प्रतिक्रिया देते हुए मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि भाजपा के साथ कोई भी रहे लेकिन राज्य में परिवर्तन आएगा। वहीं प्रदेश भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि राज्य सरकार अपना कार्यकाल पूरा करेगी। उद्धव ने शिव सेना के कार्यकर्ताओं को प्रोत्साहित करते हुए अपने आक्रामक भाषण में खाद्यी ग्रामोद्योग के कैलेंडर में महात्मा गांधी की तस्वीरें नहीं छापने और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर प्रकाशित करने के मुद्दे को भी उठाया। उपनगर गोरेगांव में पार्टी कार्यकर्ताओं और नेताओं की सभा को संबोधित करते हुए ठाकरे ने कहा, ‘मुझे भाजपा के किसी वरिष्ठ नेता का फोन नहीं आया। शिवसेना 50 साल पुरानी है। हालांकि गठबंधन (भाजपा के साथ) में हमारे समय के 25 साल सबसे खराब रहे। हमने हिंदुत्व के मुद्दे पर हमेशा आपकी (भाजपा) सराहना की। शिवसेना का जन्म सत्ता के लिए नहीं हुआ लेकिन अगर कोई भी शिवसेना को कमजोर आंकने की भूल करेगा तो हम उसे उखाड़ फेंकेंगे।’

बीजेपी ने शिवसेना के मुखपत्र 'सामना' पर तीन दिन के लिए बैन लगान की मांग की

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.