January 18, 2017

ताज़ा खबर

 

नागरिक जमात ने किया कांग्रेस नेता संजय निरुपम के कार्यक्रम का बहिष्कार

यह सुन कर सभी भारतीय नागरिकों को दुख होता है कि एक भारतीय इस तरह से बात कर रहा है और पाकिस्तान के रुख को समर्थन दे रहा है।

Author मुंबई | October 6, 2016 06:07 am
कांग्रेस नेता संजय निरूपम। (फाइल फोटो)

सरहद पार सेना की कार्रवाई पर कांग्रेस नेता संजय निरुपम की विवादित टिप्पणी का मामला गरमाता जा रहा है। बुधवार को यहां एक कार्यक्रम में सिविल सोसाइटी के सदस्यों ने उनके एक कार्यक्रम का बहिष्कार करने का फैसला किया। कांग्रेस पार्टी ने बाद में शहर में खुली जगह के कथित अतिक्रमण पर पैनल चर्चा के इस कार्यक्रम को रद्द कर दिया। यह कार्यक्रम बुधवार दोपहर तीन बजे यहां पत्रकार भवन में होना था।

हालांकि कार्यक्रम रद्द करने का कोई कारण नहीं बताया गया है। पूर्व केंद्रीय सूचना आयुक्त शैलेश गांधी, अनांदिनी ठाकुर, आरटीआइ कार्यकर्ता भास्कर प्रभु और अन्य सहित सिविल सोसाइटी के सदस्यों ने निरुपम की टिप्पणी के बाद कार्यक्रम के पैनलिस्ट के तौर पर मंगलवार को हटने का फैसला किया था। गांधी ने मंगलवार को निरुपम को भेजे एक ईमेल में परिचर्चा में शामिल नहीं होने के अपने निर्णय के बारे में बताया। उन्होंने ईमेल में कहा कि यह सुन कर सभी भारतीय नागरिकों को दुख होता है कि एक भारतीय इस तरह से बात कर रहा है और पाकिस्तान के रुख को समर्थन दे रहा है। गांधी ने कहा कि हमें पता चला है कि निरुपम लक्षित हमलों की सत्यता पर सवाल कर रहे हैं और उन्हें फर्जी बता रहे हैं, जो अनुचित है और इससे बचा जा सकता था।

सिविल सोसाइटी के अन्य सदस्यों के साथ चर्चा करने के बाद हमने निरुपम द्वारा आयोजित बैठक से खुद को दूर रखने का फैसला किया है।बहरहाल, उन्होंने कहा कि सिविल सोसाइटी के सदस्य मुंबई में खुली जगह के कथित अपहरण का विरोध करना जारी रखेंगे। विपक्षी पार्टियों के साथ ही सिविल सोसाइटी के सदस्य मुंबई नगर निकाय के राजधानी में खुले स्थान को नियमित करने की नई योजना के पक्ष में नहीं हैं और इस मुद्दे को उठाने के लिए कांग्रेस की नगर इकाई ने बुधवार को इस मुद्दे पर पैनल चर्चा कराने की योजना बनाई थी।बहरहाल इन सब बातों से प्रभावित हुए बगैर निरुपम ने भाजपा पर फिर से निशाना साधते हुए कहा कि वह राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दों से राजनीतिक लाभ लेना चाहती है और उसकी नजरें आगामी चुनावों पर हैं। उन्होंने ट्वीट किया, राष्ट्रीय सुरक्षा पर भाजपा का राजनीतिक तमाशा जारी है। रक्षा मंत्री पर्रीकर का उत्तरप्रदेश भाजपा सम्मान करेगी। वहां अगले वर्ष चुनाव होने हैं। उन्होंने कहा, सच्चाई यह है कि भाजपा राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दे से राजनीतिक लाभ ले रही है जो कभी किसी दल ने नहीं किया। भाजपा रक्षा कार्यकलापों का राजनीतिकरण करने में संलिप्त है और देश का नागरिक होने के नाते मुझे ये सवाल पूछने का हक है।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 6, 2016 6:07 am

सबरंग