December 10, 2016

ताज़ा खबर

 

अस्पताल ने 500 और 1000 के नोट लेने से किया मना, इलाज के इंतजार में नवजात की मौत

मोदी सरकार द्वारा ब्लैक मनी पर किए सर्जिकल स्ट्राइक का असर जनता पर दिख रहा है। सरकार ने 500 और 1000 रुपए के नोटों को मंगलवार रात 12 बजे के बाद से अमान्य घोषित कर दिया था।

चित्र का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है।

मोदी सरकार द्वारा ब्लैक मनी पर किए सर्जिकल स्ट्राइक का असर जनता पर दिख रहा है। सरकार ने 500 और 1000 रुपए के नोटों को मंगलवार रात 12 बजे के बाद से अमान्य घोषित कर दिया था। हालांकि कुछ परिस्थितियों में नोटों का चलन जारी है। मुंबई के एक प्राइवेट अस्पताल पर आरोप है कि उसने बच्चे का इलाज करने से इनकार दिया। अस्पताल ने बच्चे का इलाज करने से इसलिए मना कर दिया क्योंकि उसके पिता के पास 500 और 1000 रुपए के नोट थे। समय पर इलाज न मिल पाने की वजह से बच्चे की मौत हो गई है। बच्चे के पिता जगदीश ने बताया कि उनकी पत्नी किरन को बुधवार को लेबर पेन शुरू हुआ, जिसके बाद वह पत्नी को लेकर इलाज के लिए जीवन ज्योति अस्पताल आया।

जगदीश शर्मा ने बताया कि इलाज के लिए अस्पताल की ओर से करीब 6 हजार जमा करने के लिए कहा गया था, उसके पास 500 और 1000 रुपए के नोट थे, जिसे अस्पताल की ओर से लेने से मना कर दिया। मैंने उनसे बार-बार आग्रह किया, केंद्र सरकार के उस निर्देश का भी हवाला दिया, जिसमें सरकार ने अस्पतालों को 500 और 1000 रुपए के नोट लेने के लिए कहा था। शर्मा ने दावा किया कि वह बच्चे की फाइल लेने में असमर्थ रहा है, जिसके कारण वह बच्चे को दूसरे अस्पताल में भर्ती नहीं करवाया पाया। तेज बुखार से लड़ते हुए गुरुवार को बच्चे ने दम तोड़ दिया।

बच्चे के पिता ने पुलिस में लिखित शिकायत देकर अस्पताल प्रशासन के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है। पुलिस ने इस मामले में अस्पताल के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर लिया है। हालांकि अस्पताल प्रशासन की ओर से से पीड़ित परिवार के दावे को झूठा बताते हुए खारिज कर दिया है।

वीडियो: 500, 1000 के नोट बंद होने से नहीं हो पा रहा महिला का अंतिम संस्‍कार

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को देश को संबोधित करते हुए 500 और 1000 रुपए के नोटों को बंद करने का ऐलान किया था। हालांकि उन्होंने अस्पतालों, पेट्रोल पंप और रेलवे स्टेशन तथा बस स्टैंड पर टिकटों के लिए पुराने नोटों को लेने के लिए 11 नंवबर रात 12 बजे तक की छूट दी थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 12, 2016 6:30 pm

सबरंग