ताज़ा खबर
 

सीएम देवेंद्र फडणनवीस का विपक्ष को जवाब- किसानों का कर्ज माफ किया तो विकास के लिए नहीं बचेगा पैसा

वहीं सदन में कर्जमाफी की मांग कर रहे विपक्ष को जवाब देते हुए फडणनवीस ने कहा कि 2009 में भी किसानों के कर्ज को माफ किया गया था लेकिन महाराष्ट्र में किसान अभी भी आत्महत्या कर रहे हैं।
महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस

महाराष्ट्र में किसानों का कर्ज माफ करने की मांग कर रहे विपक्ष को मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने करारा जवाब दिया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि अगर किसानों का कर्ज माफ कर दिया जाएगा तो राज्य का विकास करने के लिए पैसा ही नहीं बचेगा। उन्होंने कहा कि अकेले महाराष्ट्र की इतनी क्षमता नहीं है कि वह किसानों का कर्ज माफ कर सके और फिर विकास के लिए भी खर्चा कर सके। आपको बता दें कि किसानों के कर्जमाफी को लेकर विपक्ष काफी समय से हंगामा कर रहा है जिसकी वजह से महाराष्ट्र विधानमंडल में बजट सत्र में अब तक कोई काम नहीं हो सका है।

सदन में विपक्ष को जवाब देते हुए फडणवीस ने कहा कि 2009 में भी किसानों के कर्ज को माफ किया गया था लेकिन महाराष्ट्र में किसान अभी भी आत्महत्या कर रहे हैं। इसके बाद फडणवीस ने विपक्ष से सवाल किया कि क्या आप हमें यह आश्वासन दे सकते हैं कि किसानों का कर्ज माफ किए जाने के बाद भी वे आत्महत्या जैसा कदम नहीं उठाएंगे। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि विपक्ष इसलिए कर्जमाफी की मांग कर रहा है जिससे कि वे बैंकों में पैसा आने के बाद अपने बैंकों के घोटाले को इससे छिपा सकें। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार किसानों के कर्ज माफ किए जाने के विरोध में नहीं है लेकिन ये काम योजना के साथ किए जाते हैं। हमें किसानों को कर्ज का भुगतान करने के लिए सक्षम बनाना होगा न कि उनका कर्ज माफ कर दिया जाए।

वहीं एसबीआई की प्रमुख अरुंधती भट्टाचार्य ने बुधवार को एक बयान दिया था जिसमें उन्होंने कहा था कि अगर किसानों का कर्ज माफ किया गया तो वित्तीय अनुशासन बिगड़ सकता है। भट्टाचार्य के इस बयान का विपक्ष काफी विरोध कर रहा है और इसे किसानों का अपमान बता रहा है। अपना विरोध दर्ज कराने के लिए कांग्रेस के विधायक जबरदस्ती एसबीआई मुख्यालय में घुस गए और हंगामा करने लगे। कांग्रेस विधायक मांग कर रहे हैं कि भट्टाचार्य अपने इस बयाने के लिए किसानों से मांफी मांगे।

देखिए वीडियो - महाराष्ट्र: बीजेपी समर्थित MLC ने दिया विवादित बयान, बाद में मांगी माफी

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग