ताज़ा खबर
 

वीडियो देख सहमे लोग- रिहायशी इलाके में घुस आया था तेंदुआ, कुत्ते को दांतों से दबाकर जा रहा था

अगले दिन यह वीडियो सोशल मीडिया और व्हाट्सअप पर वायरल हो गया। इसके बाद थाणे फॉरेस्ट डिपार्टमेन्ट को इसकी सूचना दी गई।
सीसीटीवी फुटेज के मुताबिक यह घटना 5 सितंबर की अहले सुबह 4.04 बजे की है।

मुंबई में मुलुंड वेस्ट इलाके के टेकवुड कॉपरेटिव हाउसिंग सोसायटी में रहने वाले लोग जब कभी बगल के संजय गांधी नेशनल पार्क से गुजर रहे होते हैं तो कई बार लोग अंदर चिड़ियाखाने में पत्थर फेंक दिया करते हैं, ताकि वो तेंदुआ देख सकें। उस वक्त शायद उजाले की वजह से तेंदुआ वगैरह कोई भी जीव बाहर सड़क पर नहीं आता होगा मगर जब उन्होंने एक सीसीटीवी फुटेज देखा तो उनके होश उड़ गए। मिड डे के मुताबिक उनके रिहायशी इलाके में अहले सुबह के उजाले में तेंदुआ सोसायटी की सड़क पर ना केवल पहुंचता है बल्कि सड़क किनारे सो रहे आवारा कुत्ते को अपना शिकार भी बनाता है।

सीसीटीवी फुटेज में साफ दिख रहा है कि तेंदुआ पहले फुटपाथ पर सो रहे कुत्ते पर हमला करता है फिर उसे दांतों से दबाकर कारों के बीच से सड़क को पार करता है। सीसीटीवी फुटेज के मुताबिक यह घटना 5 सितंबर की अहले सुबह 4.04 बजे की है। वीडियो में साफ दिख रहा है कि सोसायटी की बिल्डिंग के बाहर फुटपाथ पर सो रहे कुत्ते को तेंदुआ अपने दांतों से दबा लेता है, फिर उसे लेकर सड़क पार कर जाता है। स्थानीय लोग इस बात से हैरान हैं कि तेंदुआ ने सुरक्षित अंधेरे का रास्ता छोड़ कर उजाले में एक कुत्ते को शिकार बनाया है। उनमें खौप है कि क्या तेंदुआ हर रोज ऐसा करता होगा या कर सकता है?

इस वाकये के अगले दिन यह वीडियो सोशल मीडिया और व्हाट्सअप पर वायरल हो गया। इसके बाद थाणे फॉरेस्ट डिपार्टमेन्ट को इसकी सूचना दी गई। इसके बाद इलाके में वन विभाग के अधिकारियों ने गश्ती तेज कर दी है और लोगों को नहीं घबराने की सलाह दी है। वन विभाग के अधिकारियो ने निर्देश दिया है कि रिहायशी इलाके में तेंदुआ दिखने पर तुरंत कंट्रोल रूम को सूचित करें।

हालांकि, सोसायटी के कई लोगों का मानना है कि वे लोग तेंदुआ की इस हरकत को देखकर डरे नहीं हैं। नेशनल पार्क नजदीक होने के वजह से तेंदुआ कई बार रिहायशी इलाके में आ जाता है। वन विभाग के लोगों ने कहा कि आगे जब कभी लोग तेंदुए को देखें तो उसे सेफ एग्जिट देने की कोशिश करें।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग