ताज़ा खबर
 

एमपी: पानी की किल्लत के कारण कोई नहीं कराना चाहता इस गांव के लड़कों से अपनी बेटी की शादी

लोग पानी लाने के लिए काफी लंबा सफर तय करके जाते हैं।
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीकात्मक तौर पर। (फाइल फोटो)

मध्य प्रदेश के एक गांव में पानी की किल्लत के कारण एक परिवार के बेटे की शादी रद्द हो गई। यह मामला छत्तरपुर जिले के बक्सवाहा जिले का है। इस गांव के एक व्यक्ति ने अपने बेटे की शादी धूम-धाम से करना चाहा लेकिन पानी की कमी की वजह से यह शादी रद्द हो गई। किसी भी आस-पास के गांव के लोग इस गांव के लड़कों को अपनी बेटी नहीं देना चाहते। वे कहते हैं जहां पानी नहीं वहां बेटी को कैसे ब्याह दिया जाए। आपको बता दें कि पिछले काफी समय से जिले में पानी की किल्लत चल रही है। लोग पानी लाने के लिए काफी लंबा सफर तय करके जाते हैं। ग्रामीणों का कहना है पानी की किल्लत की वजह से हम अपने बेटों का ब्याह कराने के लिए तरस जाते हैं।

हाल ही में इस गांव के निवासी जस्सू अहरिवाल ने अपने बेटे की शादी पास के ही एक गांव की लड़की से तय की थी। सभी इंतजाम हो गए थे और बारात आने में भी कुछ दिन ही बचे थे कि शादी रद्द हो गई। जस्सू ने बताया कि इस गांव की आबादी करीब 1000 है। यहां पर एक भी पाइपलाइन नहीं है और यहां केवल दो हेंडपम्प हैं, जिनमें से केवल हवा निकलती है। जस्सू ने एएनआई से कहा कि लड़की और उसके परिवार को मेरा बेटा पसंद है लेकिन पानी की किल्लत की वजह से बात नहीं पाई और शादी को रद्द कर देना पड़ा।

जस्सू ने कहा कि हम कितनी परेशानी से गुजर रहे हैं क्या यह सरकार को नहीं दिखाई देता है। वहीं इस पर बात करते हुए सरपंच राजेश प्रजापति ने कहा कि यह केवल राज्य सरकार की नीतियों की कमियों के कारण हो रहा है। इस गांव में पानी की किल्लत केवल दो ही कारणों से है, जिनमें एक है कि पानी की कम सप्लाई और बारिश का न होना। इस इलाके को पहले ही सूखा घोषित किया जा चुका है। इन वजहों के कारण नई पीढ़ि को शादी न हो पाने वाली जैसी समस्या का सामना करना पड़ रहा है।

आपको बता दें कि मध्य प्रदेश के अलावा देश के कई भाग सूखे के चपेट में आए हुए हैं। इस बार सबसे ज्यादा सूखा कर्नाटक में पड़ा है। कर्नाटक के कई जगहों समेत तुमकुर और गुलबर्ग जैसे इलाके पानी की किल्लत का सामना कर रहे हैं। यहां रहने वाले लोग कई किलोमीटर तक पैदल चलकर पानी लेने के लिए जाते हैं। लोग सरकार से मांग कर रहे हैं कि सरकार उनकी इस परेशानी का समाधान निकाले और पानी की इस किल्लत को दूर करे ताकि लोग अच्छे से जीवन यापन कर सकें।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग