ताज़ा खबर
 

उज्‍जैन ट्रेन ब्‍लास्‍ट: तहरीक-ए-इंसाफ से जुड़े थे आतंकी, पढ़‍िए कैसे रची देश को दहलाने की साजिश

यह एक आईईडी ब्लास्ट था। आईईडी ब्लास्ट हमेशा एक आतंकी हमला होता है। बम का कंट्रोल मोबाइल फोन था, जिसे आतंकियों ने ट्रेन से उतकर दबाया था।
भोपाल-उज्जैन पैसेंजर ट्रेन में मंगलवार सुबह विस्फोट होने की खबर से हड़कंप। (ANI Photo)

भोपाल-उज्जैन पैसेंजर ट्रेन ब्लास्ट मामले में एक और नया खुलासा हुआ है। जांच में पता चला है कि इस हमले में तहरीक-ए -इंसाफ संगठन से जुड़े आतंकी शामिल थे। यह संगठन आईएसआईएस के लिए ही काम करता है। आतंकियों ने पूछताछ में बताया कि उन पर मध्य प्रदेश में बलास्ट करने के लिए दवाब बनाया गया था। ब्लास्ट के लिए साजिश पुरानी दिल्ली के पहाड़गंज इलाके से रची गई थी। योजना के मुताबिक दिल्ली से तीन आतंकियों को भोपाल भेजा गया था और उन्हें वही बम दिया गया था। तीनों आतंकी सुबह 8:30 बजे ट्रेन में सवार हुए। उनके हाथ में सूटकेस था, जिसमें बम रखा हुआ था। आतंकियों ने सूटकेस को समान रखने वाले रैक में रख दिया और 9:37 बजे जबड़ी स्टेशन पर उतर गए। ट्रेन के चलने के 5 मिनट बाद 9:42 बजे ट्रेन में ब्लास्ट हो गया। धमाका इतना तेज था कि लोग अपनी जान बचाने के लिए ट्रेन से कूद गए इस दौरान कई लोग घायल हो गए।

यह एक आईईडी ब्लास्ट था। आईईडी ब्लास्ट हमेशा एक आतंकी हमला होता है। बम का कंट्रोल मोबाइल फोन था, जिसे आतंकियों ने ट्रेन से उतकर दबाया था। इस पूरे घटनाक्रम में 10 आतंकियों के शामिल होने की बात सामने आई है। इनमें से तीन को पिपरिया से गिरफ्तार कर लिया गया है, जबकि कानपुर से 18 साल के फैसल को गिरफ्तार किया गया है। लखनऊ में सैफुल्ला को एनकाउंटर में मार गिराया गया है। वहीं पांच आतंकी अब भी फरार बताए जा रहे हैं।

आतंकियों का मकसद था कि ज्यादा से ज्यादा लोगों को निशाना बनाया जाए। इसलिए उन्होंने इस ट्रेन को चुना। मंगलवार को शाजापुर के बोलाई स्थित सिद्धवीर हनुमान मंदिर जाने के लिए यात्री इसी ट्रेन का सहारा लेते हैं। धमाके की आवाज सुनने के बाद तीनों आतंकी पैदल ही सीहोर रोड तक गए। यहां से वे बस से राजधानी के नादरा बस स्टैंड पहुंचे और पिपरिया की बस पर सवार हो गए। जबड़ी में आतंकियों के हुलिये पर हुई पूछताछ के आधार इनके भोपाल आने का पता चलते ही एटीएस ने फॉलो करना शुरू कर दिया था। पहले सीहोर और बाद में भोपाल तक के रूट को फॉलो किया गया। भोपाल से उनके पिपरिया जाने की पुख्ता जानकारी के बाद होशंगाबाद पुलिस को अलर्ट कर नाकेबंदी करने को कहा गया। इसके बाद एटीएस और पुलिस ने मिलकर तीनों आतंकियों को होशंगाबाद जिले के पिपरिया में धरदबोचा।

देखिए वीडियो - ISIS से जुड़े लखनऊ एनकाउंटर और भोपाल ट्रेन ब्लास्ट के तार!

ये वीडियो भी देखिए - देखिए लखनऊ में हुए आतंकी एनकाउंटर का वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on March 8, 2017 2:56 pm

  1. No Comments.
सबरंग