ताज़ा खबर
 

MP: इस बार तीन मंद‍िरों पर एक साथ लगाए हरे झंडे, कुछ महीनों में कई बार हो चुकी है ऐसी घटना

मध्य प्रदेश में मंदिरों पर हरे रंग के पाकिस्तान जैसा झंडा लगाने की घटनाएं पहले भी सामने आ चुकी हैं।
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

मध्यप्रदेश के डिंडौरी जिले के तीन मंदिरों पर असामाजिक तत्वों ने हरे रंग के (कथित तौर पर पाकिस्तान के) झंडे लगा दिए, जिससे संबंधित इलाकों में तनाव फैल गया। पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया और आरोपियों की तलाश तेज कर दी है। पुलिस अधीक्षक विपुल श्रीवास्तव ने सोमवार को आईएएनएस को बताया, “रविवार की सुबह समनापुर थाना क्षेत्र के तीन मंदिरों के ऊपर लोगों ने हरे रंग के झंडे लगे देखे, इस पर वहां जमा हुए लोगों ने इन झंडों को उतार दिया और इस घटना का विरोध दर्ज कराते हुए प्रशासन को ज्ञापन सौंपा।”

श्रीवास्तव के मुताबिक, झंडे हरे रंग के हैं, मगर उनमें पाकिस्तान के झंडे जैसा जैसा चांद-तारा निशान नहीं नजर आ रहा है। समनापुर थाने में अज्ञात लोगों के खिलाफ धार्मिक भावनाएं भड़काने की धारा 295 के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है। पुलिस बल की तैनाती किए जाने के साथ आरोपियों की खोज जारी है। पुलिस को आशंका है कि यह असामाजिक तत्वों की तनाव फैलाने की साजिश हो सकती है, इसीलिए मंदिरों को चुना गया और उन पर हरे झंडे लगाए गए। मंदिरों में हरे झंडे लगाए जाने से तनाव भी बढ़ गया है, इसके विरोध में स्थानीय लोगों ने सड़क पर उतरकर प्रदर्शन भी किया।

बता दें, इससे पहले भी मध्य प्रदेश के नरसिंहपुर के एक मंदिर पर पाकिस्तान जैसा झंडा लगाया गया था। इसके साथ ही मंदिर की दीवार पर लिखा गया था, ‘एक दिन करके दिखा देंगे और हिंदुओ को जड़ से मिटा देंगे, फतेह’। यह घटना अगस्त महीने की है। रिपोर्ट्स के मुताबिक इस हनुमान मंदिर में सीसीटीवी कैमरे होने के बावजूद इस घटना को अंजाम दिया गया था। ये झंडा रात में लगाया गया था, जिसके बाद सुबह गांववालों ने देखा तो पुलिस को इसकी जानकारी दी। पुलिस ने मौके पर पहुंच कर मंदिर से झंडा उतरवाया और मंदिर की दीवार पर पैंट करवा दिया, जहां धमकी भरा मैसेज लिखा गया था। यह झंडा भी पाकिस्तानी नहीं था, बल्कि एक हरे रंग का झंडा था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.