ताज़ा खबर
 

पिकनिक मनाने गए छात्रों को डूबने से बचाने तालाब में उतरे शिक्षक की डूबकर मौत

करीब पांच घंटे की मशक्कत के बाद तालाब से शिक्षक के शव को निकाला जा सका।
झरने के पानी में नहाते छात्र।

मध्य प्रदेश के इटारसी से करीब 20 कि. मी की दूरी पर बने ऑर्डिनेंस फैक्टरी के नानूपुरा जंगल में झरने में डूबने से सेंट मेरी स्कूल के एक शिक्षक की मौत हो गई। मरने वाले शिक्षक का नाम समीर ठाकुर है और वह अपने छात्रों को जंगल में पिकनिक के लिए गए थे। इस शिक्षक ने पानी में डूब रहे एक छात्र को बचाने के चक्कर में अपनी जान दे दी। करीब पांच घंटे की मशक्कत के बाद तालाब से शिक्षक के शव को निकाला जा सका। मौके पर पहुंची पुलिस ने शिक्षक के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा। आपको बता दें कि समीर एक हॉकी खिलाड़ी रह चुके थे।

पुलिस अधिकारियों द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार इटरसी में रहने वाले समीर ठाकुर रविवार की सुबह अपने छात्रों के साथ पिकनिक मनाने के लिए ऑर्डिनेंस फैक्टरी के नानूपुरा के जंगल मे गए थे। समीर इन छात्रों के साथ गांड़ी से जंगल की तरफ गए थे लेकिन जंगल से 4 कि. मी की दूरी पर उन्होंने गाड़ी को खड़ा कर दिया था। इस जंगल में एक झरना है और समीर बच्चों के साथ पैदल चलकर ही झरने तक गए थे। इस झरने के पास के खेत इन्होंने खाने की तैयारी की हुई थी। खाना खाने से पहले इन लोगों ने झरने में नहाने की योजना बनाई और वे सब झरने में कूद पड़े। इसके कुछ देर बाद ही एक छात्र नहाते समय ढूबने लगा। इसे देखते ही समीर पानी में कूद पड़े। समीर ने छात्र को तो बचा लिया लेकिन वह खुद पानी से बहार नहीं निकल पाए और डूब गए।

इस घटना की जानाकरी वहां मौजूद छात्रों ने अपने घरवालों को दी और बिना देर किए उनके घरवालों ने तुरंत 100 नम्बर पर फोन कर इसकी सूचना पुलिस को दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने पानी में शिक्षक को बहुत ढूंढने की कोशिश की लेकिन उनका शव नहीं मिला। इसके बाद गांववालों की मदद से करीब पांच घंटे के बाद पुलिस पानी से समीर के शव को निकालने में कामयाब हुई। इसके बाद पुलिस ने इटरसी के सरकारी अस्पताल में शव को पास्टमार्टम के लिए भेज दिया। वहीं इस हादसे के बाद से ही समीर के घर में शोक का माहौल है।

देखिए वीडियो - मध्य प्रदेशः दुकानादार ने चोरों को रंगे हाथ पकड़कर बनाया मुर्गा

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.