ताज़ा खबर
 

400 बच्चों की बचानी थी जान, 10 किलो का बम कंधे पर रख 1km तक दौड़ा यह पुलिसवाला

स्कूल के शिक्षकों ने बताया कि पुलिसवाले मौके पर पहुंचे और हमें बोला गया कि स्कूल को बंद कर दो।
चित्र का इस्तेमाल प्रतीकात्मक रूप से किया गया है।

मध्यप्रदेश में एक बहुत ही हैरान कर देने वाली घटना देखने को मिली है। एक पुलिसकर्मी ने बिना अपनी जान की परवाह किए स्कूल के बच्चों की जिंदगी बचाने के लिए वह 10 किलोग्राम के एक बम को करीब 1 किलोमीटर तक दौड़ा। यह मामला सागर जिले के चितोड़ा गांव का है। इस पुलिसवाले की पहचान हेड कांस्टेबल अभिषेक पटेल के रूप में हुई है। रिपोर्ट्स के मुताबिक यह घटना शुक्रवार सुबह की है। गांव के स्कूल में करीब 400 बच्चे मौजूद थे। इसी बीच पुलिस को स्कूल के बाहर बम होने की सूचना मिली। स्कूल के शिक्षकों ने बताया कि पुलिसवाले मौके पर पहुंचे और हमें बोला गया कि स्कूल को बंद कर दो।

कुछ ही मिनटों में वहां पर बम को निरोधक दस्ता पहुंच गया और मीडिया भी इकट्ठी हो गई। कुछ मिनटों तक बम ऐसा ही जमीन पर पड़ा रहा। इसी बीच हेड कांस्टेबल पटेल ने आगे आकर हिम्मत दिखाई और वह बम को अपने कंधे पर रखकर 1 किलोमीटर तक भागा। इस घटना का एक वीडियो वहां मौजूद किसी व्यक्ति ने बना लिया जिसमें पुलिसवाला कंधे पर बम को लेकर भागता हुआ दिखाई दे रहा है। इस बारे में जब पटेल से बात की तो उन्होंने कहा कि ऐसी ही एक घटना कुछ समय पहले भी सामने आई थी जब वह उस पुलिस टीम का हिस्सा था। इस घटना में मुझे पता चला था कि अगर बम को नष्ट नहीं किया जाता है तो वह 500 मीटर के दायरे को पूरी तरह से तबाह कर सकता है। बच्चों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए मुझे बम को वहां से दूर ले जाना पड़ा।

फिलहाल अभी बम निरोधक दस्ता इसे नष्ट करने में जुटा है। वहीं सेना को भी इस बम की सूचना दे दी गई है। वहीं इंस्पेक्टर जनरल ऑफ पुलिस सतीश सक्सेना ने पटेल की इस बहादुरी के लिए उन्हें इनाम देने की घोषणा कर दी है। पटेल अगर समय पर उस बम को स्कूल के वहां से नहीं हटाते तो कोई बड़ी घटना हो सकती थी लेकिन पटेल की सूझबूझ ने एक बड़ा हादसा होने से बचा लिया।

देखिए वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग