ताज़ा खबर
 

RSS प्रचारक सुशील जोशी हत्याकांड: सबूतों के अभाव में साध्वी प्रज्ञा सहित आठ लोग बरी, फैसला सुनकर रो पड़े दो आरोपी

जोशी की 29 दिसंबर 2007 को देवास के औद्योगिक पुलिस थाना इलाके में गोली मारकर हत्या कर दी गर्ई थी।
Author   देवास | February 1, 2017 23:04 pm
साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर। (Source: File Photo)

स्थानीय अदालत ने आरएसएस के पूर्व प्रचारक सुनील जोशी हत्याकांड मामले में आज साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर सहित सभी आठ आरोपियों को सबूतों के अभाव में बरी कर दिया। अदालत ने अपने फैसले में कहा कि पुलिस और एनआईए दोनों ने किसी पूर्वाग्रह या अज्ञात कारण से प्रकरण में लचर अनुसंधान किया। जोशी की 29 दिसंबर 2007 को देवास के औद्योगिक पुलिस थाना इलाके में गोली मारकर हत्या कर दी गर्ई थी।  प्रथम अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश राजीव मधुसूदन आपटे ने आज इस मामले में साध्वी प्रज्ञा ठाकुर, हर्षद सोलंकी, वासुदेव परमार, रामचरन पटेल, आनंदराज कटारिया, लोकेश शर्मा, राजेन््रद चौधरी और जितेन््रद शर्मा सहित सभी आठ आरोपियों को यह कहकर बरी कर दिया है कि इनके खिलाफ पर्याप्त सबूत नहीं हैं।

प्रज्ञा के वकील रघुवीर यरदी ने बताया कि अदालत ने अपने फैसले में कहा, ‘‘अभियोजन द्वारा एकत्रित समग्र साक्ष्य के विश्लेषण उपरांत यह प्रकट हुआ है कि हत्या जैसा संवेदनशील एवं गंभीर प्रकरण में मप्र पुलिस औद्योगिक क्षेत्र देवास एवं राष्ट्रीय अनुसंधान अभिकरण :एनआईए: दोनों ही अनुसंधान एजेंसियों ने पूर्वाग्रह अथवा अज्ञात कारणों से गंभीरतापूर्वक अनुसंधान नहीं करते हुए जिसे दुर्बल प्रकृति की परस्पर प्रतिकूल साक्ष्य एकत्रित की गयी है वह अभियुक्तगण को उन पर विरचित आरोपों में दोषसिद्ध किये जाने हेतु पर्याप्त नहीं होते हुए ऐसी विरोधाभासी स्वरूप की साक्ष्य से अभियोजन के कथानक पर ही गंभीर संदेह उत्पन्न हो गया है।’’ इस मामले में कुल 8 आरोपी थे। मुख्य आरोपी साध्वी प्रज्ञा भोपाल में न्यायिक अभिरक्षा में उपचाररत हैं। इसलिये आज अदालत मेें उपस्थित नहीं हुई, जबकि दूसरा आरोपी हर्षद सोलंकी अजमेर जेल में और आरोपी लोकेश शर्मा और राजें्रद चौधरी समझौता विस्फोट मामले में हरियाणा की पंचकूला जेल में बंद हैं। इस मामले के चार अन्य आरोपी जितें्रद शर्मा, रामचरण पटेल, वासुदेव परमार और आनंदराज कटारिया जमानत पर चल हैं।
फैसला आने के बाद आनंदराज कटारिया और वासुदेव परमार अदालत में रो पड़े।

नितिन गडकरी के कार्यक्रम में सीएम शिवराज सिंह चौहान ने अतिथि शिक्षकों को दी धमकी

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. R
    raj
    Feb 1, 2017 at 7:16 pm
    वाह! १२ लाइन लंबा एक वाक्य? कया हिंदी की यही योग्यता है आपके स्टाफ़ की? दूसरी बात कृपा ख़बर संस्कृत की बजाए हिंदी में लिखें क्योंकि अख़बार हिंदी का है।
    (0)(0)
    Reply