December 07, 2016

ताज़ा खबर

 

सिमी सदस्यों द्वारा मारे गए हेड कॉन्स्टेबल की बेटी की अगले महीने थी शादी

सोमवार तड़के सिमी के 8 सदस्य ड्यूटी पर मौजूद हेड कॉन्स्टेबल को मारकर भोपाल की सेन्ट्रल जेल से फरार हो गए थे। हालांकि कुछ घंटे बाद इन सभी फरार कैदियों को एनकाउंटर में मार गिराया गया।

57 वर्षीय यादव की कुछ साल पहले ही बाइपास सर्जरी की गई थी और वह 2 साल बाद 2019 में रिटायर होने वाले थे।

एक दिन पहले दिवाली मनाने के बाद भोपाल की सेंट्रल जेल में हेड कॉन्स्टेबल रमाशंकर यादव को दिसंबर का बेसब्री से इंतजार था। अगले महीने उनकी छोटी बेटी की शादी होने वाली थी। लेकिन दिवाली से अगले ही दिन परिवार को सूचना मिली कि सिमी के 8 सदस्य यादव की हत्या करके जेल से फरार हो गए हैं। 57 वर्षीय यादव की कुछ साल पहले ही बाइपास सर्जरी की गई थी और वह 2 साल बाद 2019 में रिटायर होने वाले थे। रमाशंकर यादव का बेटा प्रभुनाथ यादव सेना में लांस नायक है जो हरियाणा के हिसार में तैनात है। प्रभुनाथ ने कहा, “जेल से भागने की कोशिश कर रहे 8 कैदियों से लड़ते हुए पता नहीं उनपर (पिता) क्या बीती होगी।” प्रभुनाथ को जैसे ही पिता की मौत की खबर मिली वह मां हीरामनी को सहारा देने के लिए तुरंत दिल्ली से फ्लाइट पकड़कर भोपाल आ गया।

रमाशंकर यादव का दूसरा बेटा शंभुनाथ भी सेना में है, जो असम में तैनात है। वहीं बेटी सोनिया की अगले महीने दिसंबर में शादी होने वाली थी। यादव का घर जेल से कुछ ही दूरी पर है, जहां सोमवार को मातम परसा रहा। परिवार और रिश्तेदारों में दुख तो था ही साथ ही ये लोग जेल प्रशासन पर गुस्सा भी थे। उनका कहना है कि उम्रदराज और बीमार होने के बावजूद उन्हें जेल का इतना मुश्किल काम दिया हुआ था। बेटे प्रभुनाथ ने कहा, “कुछ साल पहले ही उनकी बाइपास सर्जरी हुई थी। हमने जेल प्रशासन से विनती की थी कि उन्हें कम मेहनत वाला काम दिया जाए और नाइट ड्यूटी ना लगाई जाए।”

भोपाल मुठभेड़ सामने आया कथित वीडियो-

 

पुलिस कॉन्स्टेबल और रमाशंकर के परिवार के करीबी राकेश कटारिया ने कहा, “रमाशंकर एक शहीद है जिसने बड़ी बहादुरी से मुकाबला किया।” मध्य प्रदेश के गृहमंत्री भूपेंद्र सिंह ने यादव के परिवार से मुलाकात की और आश्वासन दिया है कि सरकार रमाशंकर को शहीद का दर्जा प्रदान करेगी। इसके अलावा राज्य सरकार ने परिवार को बेटी की शादी के लिए 5 लाख रुपए समेत 15 लाख रुपए की वित्तीय सहायता की घोषणा की है।

वीडियो में देखिए, भोपाल जेल फरार हुए सिमी के सभी 8 सदस्य मुठभेड़ में ढेर

बता दें कि सोमवार दोपहर भोपाल सेन्ट्रल जेल से फरार सिमी के सभी 8 सदस्यों को पुलिस ने एक मुठभेड़ में मार गिराया था। भोपाल के बाहरी इलाके में इंटखेडी गांव के पास पुलिस के जवानों ने सिमी के इन सदस्यों को ढेर किया था। ये सभी सिमी सदस्य सोमवार तड़के ड्यूटी पर मौजूद हेड कॉन्स्टेबल को मारकर भोपाल की सेन्ट्रल जेल से फरार हो गए थे। तड़के तीन से चार बजे के बीच सिमी के आठ सिमी सदस्यों ने बैरक तोड़ने के बाद हेड कांस्टेबल रमाशंकर की हत्या कर दी। इसके बाद ओढ़ने के काम आने वाली चादर की रस्सी बनाकर आतंकी दीवार फांदकर फरार हो गए। पुलिस ने बताया कि फरार कैदियों के पास हथियार भी थे। आतंकियों की फायरिंग के बदले पुलिस ने आत्मरक्षा में फायरिंग की और क्रॉस फायरिंग में सभी फरार कैदी मारे गए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 1, 2016 10:06 am

सबरंग