May 23, 2017

ताज़ा खबर

 

अस्पताल का बिल चुकाने के लिए मृत बच्चे को थैले में रखकर भीख मांगता रहा पिता, पत्नी को बनाया गया था बंधक

मध्य प्रदेश के जबलपुर में इंसानियत को शर्मसार करने वाली घटना सामने आई है। यहां एक आदिवासी शख्स अपने मृत बच्चे को झोले में लेकर अस्पताल का बिल चुकाने के लिए सड़कर पर मदद मांगता रहा।

अस्पताल का बिल चुकाने के लिए मृत बच्चे को थैले में रखकर भीख मांगता रहा पिता (Representative Image/theindiansociety.org)

मध्य प्रदेश के जबलपुर में इंसानियत को शर्मसार करने वाली घटना सामने आई है। यहां एक आदिवासी शख्स अपने मृत बच्चे को झोले में लेकर अस्पताल का बिल चुकाने के लिए सड़कर पर मदद मांगता रहा। अस्पलात प्रशासन पर आरोप है कि उसने महिला को बंधक बना लिया और कहा कि पैसे दे दो और अपनी पत्नी को ले जाओ। यह मामला उस समय सामने आया जब शनिवार को लोगों ने एक युवक को भीख मांगते हुए देखा। युवक के पास एक थैला था, जिसमें उसने मृत बच्चे को रखा था। बाद में पूछने पर युवक ने पूरी आपबीती सुनाई।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पैसे के लिए भीख मांगने वाले युवक का नाम कृष्णपाल बैगा है। वह मध्य प्रदेश के शहडोल का रहने वाला है। युवक ने बताया कि उसकी पत्नी गर्भवती थी। उसे शुक्रवार को उमरिया के सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। हालत गंभीर होने पर उसे जबलपुर रिफर कर दिया गया। प्रसूता को जननी एक्सप्रेस के जरिए जबलपुर लाया गया। युवक के मुताबिक जननी एक्सप्रेस के ड्राइवर ने सरकारी अस्पताल की जगह उसकी पत्नी को प्राइवेट नर्सिंग होम में ले गया। जहां पत्नी ने मृत बच्चे को जन्म दिया। बैगा ने नवजात को थैली में रखा और उसके नाम पर भीख मांगने लगा। बैगा का कहना है कि उसके पास न तो मृत बच्ची को दफनाने और न अस्पताल का बिल चुकाने पैसे हैं।

वीडियो Speed News

वहीं, अस्पताल प्रशासन पर बिल नहीं चुकाने के कारण प्रसूता को बंधक बना लेने का आरोप लगा। रिपोर्ट्स के मुताबिक अस्पताल प्रशासन ने युवक से कहा कि पैसे चुकाओ और अपनी पत्नी को ले जाओ। हालांकि अस्पताल प्रशासन की ओर से इस आरोप को निराधार बताया गया है। इस मामले की जांच की जा रही है। जिला प्रशासन की ओर से कहा गया है कि इस मामले में जांच कराई जा रही है और यह पता लगाने की कोशिश की जा रही है कि जननी एक्सप्रेस का ड्राइवर प्रसूता को सरकारी अस्पताल के बजाए प्राइवेट नर्सिंग होम क्यों ले गया।

READ ALSO: ऑटोवाले शुक्‍लाजी ने एक शख्स को पहुंचाया मस्जिद, दिखाई ऐसी इंसानियत की सोशल मीडिया पर वायरल हुई कहानी

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 9, 2016 10:23 am

  1. A
    Abu talib
    Oct 9, 2016 at 7:09 am
    मतलब के लिए अंधे होकर रोटी को नहीं पूजा हमने. कितना बड़ा झूट है उस देश में जहाँ लक्ष्मी की पूजा होती है
    Reply

    सबरंग