December 09, 2016

ताज़ा खबर

 

भोपाल मुठभेड़ में मारे गए सिमी सदस्यों की कब्रों पर लिखा गया था ‘शहीद’, पुलिस ने मिटवाया

पांच सिमी सदस्यों की कब्रों पर लगाई गई शिलाओं पर उर्दू एवं हिन्दी में लिखे इस्लामिक शहादत के शब्दों के साथ-साथ कुछ अन्य शब्दों को बुधवार रात मिटा दिया गया है।

Author खंडवा | November 24, 2016 20:36 pm
मुठभेड़ में मारे गए सिमी के सदस्य।

पिछले महीने भोपाल में पुलिस के साथ हुई मुठभेड़ में मारे गए पांच सिमी कार्यकर्ताओं की कब्रों पर यहां शहीद दर्शाने वाले शिलालेखों को पुलिस ने बुधवार रात सफेद रंग पोतकर मिटवा दिया है। इन शिलालेखों पर इनको महिमामंडित करने के मकसद से उनकी मौत को शहादत बताया गया था। खंडवा के पुलिस अधीक्षक महेंद्र सिंह सिकरवार ने कहा, ‘हमने इस बात को मुस्लिम समुदाय के बुजुर्ग लोगों के साथ उठाया और उन्होंने ही कब्रों की शिलाओं पर लिखे शहादत शब्दों पर रंग पोतकर उन्हें मिटाया।’ सूत्रों ने बताया कि भोपाल मुठभेड़ में मारे गए पांच सिमी सदस्यों की कब्रों पर लगाई गई शिलाओं पर उर्दू एवं हिन्दी में लिखे इस्लामिक शहादत के शब्दों के साथ-साथ कुछ अन्य शब्दों को बुधवार रात मिटा दिया गया है।

जिन पांच सिमी सदस्यों की कब्रों के शिलालेखों से इनको महिमामंडित करने के शब्दों को मिटाया गया है, उनके नाम अमजद खान, जाकिर हुसैन, मोहम्मद सलीक, शेख महबूब एवं अकील खिलजी हैं। ये पांचों सिमी आतंकी उन आठ सिमी विचाराधीन कैदियों में शामिल थे, जिन्होंने 30-31 अक्तूबर की रात को उच्च सुरक्षा वाली भोपाल केंद्रीय जेल से कथित रूप से एक सुरक्षा गार्ड की हत्या कर फरार हो गए थे। बाद में पुलिस के साथ हुई मुठभेड़ में 31 अक्तूबर को ये आठों सिमी सदस्य भोपाल के बाहरी इलाके में मारे गए थे। इनमें से पांच खंडवा के रहने वाले थे।

इसके बाद दो नवंबर की रात तकरीबन 11 बजे खंडवा के रहने वाले इन पांच सिमी सदस्यों के शवों को यहां बड़ा कब्रिस्तान में तनाव के बीच कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के साथ दफनाया गया था। इस दिन इनके जनाजे में 2,000 से अधिक लोग शामिल हुए थे। कुछ स्थानों पर भगदड़ जैसी स्थिति को रोकने के लिए तब पुलिस को उन लोगों को खदेड़ना भी पड़ा था, जो इन सिमी सदस्यों के शवों को देखने पहुंचे थे।

सूत्रों ने बताया था कि इस जनाजे के दौरान स्थिति को काबू में करने के लिए लगभग 700 पुलिसकर्मी तैनात किये गए थे, जिनमें से कुछ सादे कपड़ों में थे, जो जनाजे पर पैनी नजर रखे हुए थे।

वीडियो में देखें- सिमी भारत में चाहता है इस्लामी राज्य, कुरान को ही मानता है संविधान

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 24, 2016 8:35 pm

सबरंग