December 09, 2016

ताज़ा खबर

 

मध्य प्रदेश: पिछले दस महीनों में 23 बाघों की मौत

मध्य प्रदेश के कान्हा टाइगर रिजर्व में किंगफिशर नाम से मशहूर छह साल के बाघ की मौत हो गई।

Author भोपाल | October 30, 2016 04:36 am
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

मध्य प्रदेश के कान्हा टाइगर रिजर्व में किंगफिशर नाम से मशहूर छह साल के बाघ की मौत हो गई। इस बाघ की मौत के साथ ही प्रदेश में पिछले 10 महीनों में विभिन्न कारणों से 23 बाघों की मौत हो चुकी है। टाइगर रिजर्व के क्षेत्र निदेशक संजय शुक्ला ने शनिवार को बताया कि टाइगर रिजर्व के कोर एरिया के मुक्की रेंज में छह साल का बाघ किंगफिशर शुक्रवार को मृत अवस्था में मिला था। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार बाघों के क्षेत्राधिकार को लेकर आपसी लड़ाई में इस बाघ की मौत हुई है। राष्ट्रीय बाघ संरक्षण प्राधिकरण की वेबसाइट के अनुसार 22 अक्तूबर तक पिछले दस महीनों में विभिन्न कारणों से प्रदेश में 22 बाघों की मौत हो चुकी है। इसमें पेंच टाइगर रिजर्व के कोर एरिया में 28 मार्च को जहर से तीन बाघों की मौत और छिंदवाड़ा व कान्हा रिजर्व में एक-एक बाघ की करंट से हुई मौत भी शामिल हैं।

वीडियो: मध्य प्रदेश में 177 कुपेषित बच्चे अस्पताल में भर्ती


केटीआर में शुक्रवार को हुई बाघ की मौत फिलहाल एनटीसीए की साइट में शामिल नहीं की गई है। पिछले एक सप्ताह में कान्हा रिजर्व में दो बाघों की मौत हो चुकी है। 22 अक्तूबर को यहां एक बाघ की मौत हुई थी। उसके बाद शुक्रवार को एक बाघ की मौत हुई। उन्होंने बताया कि 22 अक्तूबर को जो बाघ मृत अवस्था में मिला था, उसकी हत्या करने वाले शिकारियों को हमने गिरफ्तार कर लिया है। पिछले दस महीनों में प्रदेश में कान्हा टाइगर रिजर्व में सबसे अधिक नौ बाघों की मौत हुई है। इसके बाद आठ बाघों की मौत पीटीआर में हुई है।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 30, 2016 4:36 am

सबरंग