ताज़ा खबर
 

गोमांस ले जाने के शक में MP में दो महिलाओं पर हमला, संसद में विपक्ष का हंगामा

बसपा और कांग्रेस सांसदों ने ‘‘महिला विरोधी ये सरकार नहीं चलेगी, नहीं चलेगी’’ और ‘‘दलित विरोधी ये सरकार नहीं चलेगी, नहीं चलेगी’’ के नारे लगाए।
Author मंदसौर | July 27, 2016 17:25 pm
चित्र का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

गोवंश के एक और विवाद में दो मुस्लिम महिलाओं पर मंदसौर रेलवे स्टेशन के पास पुलिस की उपस्थिति में हमला किया गया जो भैंस का मांस लेकर जा रही थीं। गोमांस ले जाने के शक में उन पर हमला किया गया। पुलिस ने दोनों महिलाओं को गिरफ्तार कर लिया है। गुजरात में दलित युवकों पर हमले को लेकर हुए विवाद के बाद यह घटना सामने आई है। बहरहाल मंदसौर के पुलिस अधीक्षक मनोज शर्मा ने कहा कि कल उन्हें एक व्यक्ति से फोन पर सूचना मिली कि रेलवे स्टेशन के पास गोमांस ले जाने के शक में दो महिलाओं से मारपीट की जा रही है।

उन्होंने कहा कि इसके बाद एक महिला सिपाही सहित दो सिपाही प्लेटफॉर्म पर पहुंचे और दोनों महिलाओं को साथ ले गए। उन्होंने कहा कि इसके बाद मांस को जांच के लिए भेजा गया जिसमें पता चला कि यह भैंस का मांस है। उन्होंने कहा कि दो महिलाओं में से एक पर पहले भी अवैध तरीके से मांस ले जाने का मामला दर्ज किया गया था।
दोनों महिलाओं की गिरफ्तारी के बाद उन्हें स्थानीय अदालत में पेश किया गया जिसने उन्हें पशु अत्याचार निवारण अधिनियम 1960 के तहत न्यायिक रिमांड में भेज दिया। पुलिस अधीक्षक ने कहा, ‘‘यह कानून…व्यवस्था की स्थिति है और लोगों को धैर्य रखना चाहिए। किसी भी स्थिति में उन्हें कानून को अपने हाथ में नहीं लेना चाहिए। हम इस तरह की घटनाओं को रोकने के लिए प्रयास कर रहे हैं।’’

दोनों महिलाओं पर हुए हमले के बारे में पूछे जाने पर मध्य प्रदेश के गृह मंत्री भूपेंद्र सिंह ने इस बात से इनकार किया कि पुलिस हिरासत में दूसरी महिला यात्रियों ने दोनों महिलाओं को पीटा और कहा कि झड़प के दौरान घटनास्थल पर मौजूद पुलिसकर्मियों ने उन्हें बचा लिया। उन्होंने दावा किया कि दोनों महिलाओं की दूसरी यात्रियों के साथ बहस हुई और दोनों पक्षों के बीच तकरार हुई। मंत्री ने कहा, ‘‘अगर वे हमें कुछ आपत्तिजनक होने के संबंध में कोई अभ्यावेदन देते हैं तो हम जांच करेंगे और सुनिश्चित करेंगे कि दोषियों को सजा मिले।’’

कोतवाली पुलिस थाना के प्रभारी एम पी सिंह परिहार ने कहा कि उन्हें ‘‘गुप्त सूचना’’ मिली थी कि दो महिलाएं गोमांस के साथ जाओरा से मंदसौर जा रही हैं जिसके बाद कल करीब 30 किलोग्राम मांस के साथ उन्हें रेलवे स्टेशन के बाहर पकड़ लिया गया। उन्होंने कहा, ‘‘जांच करने पर पाया गया कि महिलाओं के पास गोमांस नहीं था बल्कि वह भैंसे का मांस था।’’ पुलिस अधिकारी ने कहा, ‘‘उन्होंने ऐसी कोई रिपोर्ट दायर नहीं की कि उन्हें स्टेशन में कट्टरपंथी तत्वों ने पीटा।’’
विपक्षी दल बसपा और कांग्रेस ने मामले को लेकर राज्यसभा में हंगामा किया। विपक्षी नेताओं ने भाजपा नेतृत्व वाली सरकार को दोबारा निशाने पर लिया। गुजरात की घटना के बाद विपक्षी नेताओं ने सरकार पर ‘‘दलित विरोधी’’ होने का आरोप लगाया था।बसपा अध्यक्ष मायावती ने भाजपा को घेरते हुए कहा कि एक तरफ वे कन्याओं की सुरक्षा करने और महिलाओं को गौरव एवं सम्मान देने की बात करते हैं लेकिन दूसरी तरफ उनपर गुंडे छोड़ते हैं। मायावती के भाषण पूरे करने के बाद बसपा के सदस्य सदन के आसन के पास पहुंच गए और कांग्रेस सांसदों के साथ मिलकर सरकार विरोधी नारेबाजी करने लगे।

बसपा और कांग्रेस सांसदों ने ‘‘महिला विरोधी ये सरकार नहीं चलेगी, नहीं चलेगी’’ और ‘‘दलित विरोधी ये सरकार नहीं चलेगी, नहीं चलेगी’’ के नारे लगाए। कांग्रेस नेता आनंद शर्मा ने पूछा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘गौ रक्षा’ के नाम पर हो रहे हमलों को लेकर कोई टिप्पणी क्यों नहीं की।उन्होंने कहा, ‘‘उन्होंने :मोदी: ‘चाय पर चर्चा’ और ‘मन की बात’ की लेकिन इस मुद्दे पर क्यों कुछ नहीं कहा।’’विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि कांग्रेस पार्टी सैद्धांतिक रूप से गौ रक्षा के खिलाफ नहीं है लेकिन गौ रक्षा के नाम पर दलितों को और मुसलमानों को निशाना बनाने के खिलाफ है। शर्मा ने कहा, ‘‘इसे पूरी तरह साफ करने दीजिए। हम गौ रक्षा के खिलाफ नहीं है। लेकिन हम गौ रक्षा के नाम पर दलितों और मुसलमानों को निशाने बनाने के खिलाफ हैं।’’

केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि किसी भी रूप में हिंसा निंदनीय है। अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री ने कहा कि दलितों या महिलाओं के खिलाफ हिंसा को ‘‘हम किसी भी तरह से सही नहीं ठहरा रहे’’ और देश कानून के शासन एवं संविधान से चलता है ना कि लाठी से। उन्होंने कहा कि मध्य प्रदेश सरकार ने मामले को लेकर कार्रवाई की है।] नकवी ने कहा कि सरकार दलितों एवं मुसलमानों के विकास और उनमें विश्वास बहाली के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने विपक्ष से इस तरह के संवेदनशील मुद्दों पर राजनीति से ऊपर उठने की अपील की ताकि देश में सांप्रदायिक सद्भाव एवं शांति ना बिगड़े।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.