December 02, 2016

ताज़ा खबर

 

शहीद गुरसेवक सिंह को दी गई अंतिम विदाई, श्रद्धांजलि देने मंगेतर भी पहुंची

गुरसेवक सिंह 2013 में सेना में भर्ती हुए थे। वो 22 सिख रेजीमेंट के सिपाही थे और जम्मू-कश्मीर के कृष्णा घाटी सेक्टर में तैनात थे।

शहीद गुरसेवक सिंह को श्रद्धांजलि देतीं उनकी मंगेतर रजणीत कौर

शहीद जवान गुरसेवक सिंह का आज (सोमवार को) पूरे राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार पंजाब के तरणतारन जिले के रवाणा गांव में कर दिया गया। शहीद की अंतिम यात्रा में हजारों लोग शामिल हुए। शहीद गुरसेवक सिंह की मंगेतर रजनीत कौर ने भी नम आंखों से उन्हें श्रद्धांजलि दी। गुरसेवक की तीन माह बाद रजनीत कौर से शादी होनी थी लेकिन सीमा पर देश के लिए गुरसेवक ने अपने प्राणों की बाजी लगा दी। ऐसे वीर जवान को श्रद्धांजलि देने के लिए उनकी मंगेतर वहां पहुंची थी। गुरसेवक सिंह के परिवार के लोगों और ग्रामीणों ने शामिल होकर अपने लाल को अंतिम विदाई दी।

शहीद जवान गुरसेवक सिंह का शव जैसी ही उनके गांव पहुंचा। वहां पर मातम छा गया। शहीद के परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल था। शहीद की मां बलजीत कौर के अनुसार तीन माह बाद शहीद गुरसेवक की शादी थी। हाल ही में उसकी सगाई हुई थी। छुट्टी से ड्यूटी पर वापस लौटते वक्त उसने कहा था कि मां जल्द ही वापस आकर घर का पेंट भी कराउंगा और शादी के कपड़े भी खरीदूंगा।

वीडियो देखिए: जम्मू-कश्मीर के शोपियां में मुठभेड़, एक आतंकी ढेर

गुरसेवक सिंह 2013 में सेना में भर्ती हुए थे। वो 22 सिख रेजीमेंट के सिपाही थे और जम्मू-कश्मीर के कृष्णा घाटी सेक्टर में तैनात थे। पिछले दिनों पाकिस्तान की तरफ से घुसपैठ की कोशिश और सीजफायर उल्लंघन में दुश्मनों का सामना करते हुए बहादुर गुरसेवक सिंह शहीद हो गए थे। उनकी शहादत का सम्मान करते हुए पंजाब सरकार ने उनके परिवार को 5 लाख रुपये और परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने का एलान किया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 7, 2016 3:10 pm

सबसे ज्‍यादा पढ़ी गईंं खबरें

सबरंग